1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. दिल्ली
  4. न्‍यूज
  5. दिल्ली में बढ़ा ऑटो का किराया, ये है नया रेट

दिल्ली में बढ़ा ऑटो का किराया, ये है नया रेट

केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में ऑटो किराया में वृद्धि को लेकर अधिसूचना जारी की। इससे मौजूदा किराये दरों में 18.75 प्रतिशत वृद्धि होगी। अगले कुछ महीने में होने वाले विधानसभा सुनाव से पहले यह कदम उठाया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: June 13, 2019 7:22 IST
दिल्ली में बढ़ा ऑटो का किराया, ये है नया रेट- India TV
दिल्ली में बढ़ा ऑटो का किराया, ये है नया रेट

नयी दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में ऑटो किराया में वृद्धि को लेकर अधिसूचना जारी की। इससे मौजूदा किराये दरों में 18.75 प्रतिशत वृद्धि होगी। अगले कुछ महीने में होने वाले विधानसभा सुनाव से पहले यह कदम उठाया गया है। इस कदम से राष्ट्रीय राजधानी में चलने वाले 90,000 ऑटो रिक्शा मालिकों और चालकों को लाभ होगा। आम आदमी पार्टी (आप) को आगे बढ़ाने में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है। 

Related Stories

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘अरविंद केजरीवाल सरकार ने अपना प्रमुख वादा पूरा किया। परिवहन विभाग ने ऑटो रिक्शा किराया संशोधन को अधिसूचित कर दिया है। संशोधन के बाद भी दिल्ली में ऑटो किराया अन्य महानगरों की तुलना में कम होगा।’’ 

परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ ऑटो रिक्शा चालक मीटर में जरूरी बदलाव कर संशोधित दर ले सकेंगे। इसमें दिल्ली में पंजीकृत 90,000 ऑटो के मीटरों में जरूरी बदलाव के लिये करीब 1.5 महीना का समय लगेगा।’’ 

संशोधित दरों के तहत पहले 1.5 किलोमीटर के लिये 25 रुपये लगेंगे। फिलहाल पहले 2 किलोमीटर के लिए 25 रुपये लगते हैं। प्रति किलोमीटर शुल्क मौजूदा 8 रुपये से बढ़ाकर 9.5 रुपये कर दिया गया है। यह करीब 18.75 प्रतिशत वृद्धि को बताता है।’’ 

अधिसूचना में पहली बार प्रतीक्षा शुल्क 0.75 रुपया प्रति मिनट लगाये जाने की बात कही गयी है। वहां सामान शुल्क 7.50 रुपये होगा। 

संशोधित किराये को लेकर अधिसूचना परिवहन विभाग द्वारा राज्य परिवहन प्राधिकरण को भेज दिया गया है। अधिकारियों के यह कहे जाने पर कि अधिसूचना के लिये लेफ्टिनेंट गवर्नर की मंजूरी की जरूरी है, अधिसूचना के मुद्दे पर देरी हुई। अंत में कानून विभाग की राय के बाद इसे गहलोत की मंजूरी से जारी किया गया। कानून विभाग की राय के अनुसार लेफ्टिनेंट गवर्नर की इसके लिये मंजूरी की जरूरत नहीं है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। News News in Hindi के लिए क्लिक करें दिल्ली सेक्‍शन
Write a comment