Live TV
GO
Hindi News विदेश अमेरिका म्यांमार के रखाइन राज्य में फिर...

म्यांमार के रखाइन राज्य में फिर से भड़की हिंसा, हजारों लोग अपना घर छोड़कर भागे

संयुक्त राष्ट्र के एक प्रवक्ता ने बताया कि म्यांमार के रखाइन राज्य में एक बार फिर हिंसा भड़कने से पिछले सप्ताह हजारों लोग विस्थापित हुए हैं।

IndiaTV Hindi Desk
Edited by: IndiaTV Hindi Desk 09 Jan 2019, 12:20:54 IST

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र के एक प्रवक्ता ने बताया कि म्यांमार के रखाइन राज्य में एक बार फिर हिंसा भड़कने से पिछले सप्ताह हजारों लोग विस्थापित हुए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, ताजा हिंसा आरकन आर्मी द्वारा सेना और पुलिस चौकियों पर हमले के बाद भड़की है। 4 जनवरी को हुए आरकन आर्मी के इस हमले में म्यांमार पुलिस के 13 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 9 अन्य घायल हो गए थे। आको बता दें कि यहां 2017 में भड़की हिंसा के बाद लगभग 10 लाख रोहिंग्या मुसलमानों को पलायन करना पड़ा था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने मंगलवार को कहा कि पिछले शुक्रवार भड़की हिंसा के बाद करीब 4,500 लोगों ने अपने घरों को छोड़ दिया है और पलायन कर गए हैं। सरकारी सुरक्षा बलों पर विद्रोहियों के हमले से दोबारा राज्य में हिंसा भड़क उठी है। अगस्त 2017 में भी सुरक्षा बलों पर रोहिंग्या के हमलों के बाद कथित सैन्य प्रतिशोध शुरू हुआ था जिसके कारण बड़े पैमाने पर बौद्ध राष्ट्र से मुस्लिम अल्पसंख्यकों का पलायन हुआ था।

दुजारिक ने एक नियमित समाचार ब्रीफिंग में संवाददाताओं से कहा, ‘म्यांमार के लिए संयुक्त राष्ट्र के कार्यवाहक रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर और मानवाधिकार कोऑर्डिनेटर नट ओस्टबी उत्तर और मध्य रखाइन की स्थिति को लेकर काफी चिंतित हैं।’

आम चुनाव से जुड़ी ताजा खबरों, लोकसभा चुनाव 2019 की खबरों, चुनावों से जुड़े लाइव अपडेट्स और चुनाव परिणामों के लिए https://hindi.indiatvnews.com/elections पर बने रहें। इसके साथ ही हमें फेसबुक और ट्विटर पर लाइक करके या #ElectionsWithIndiaTV हैशटैग का इस्तेमाल करके 543 लोकसभा सीटें और विधानसभा चुनावों से जुड़े ताजा परिणाम पाएं। आप #ResultsWithRajatSharma हैशटैग का इस्तेमाल करके इंडिया टीवी के चेयरमैन एवं एडिटर-इन-चीफ रजत शर्मा के साथ 23 मई को चुनाव परिणामों की पल-पल की जानकारी हासिल कर सकते हैं।
Web Title: United Nations says renewed violence in Myanmar' Rakhine displaces thousands

More From US