Live TV
GO
Hindi News विदेश अमेरिका मेहुल चौकसी पर कसेगा शिकंजा? ऐंटीगुआ...

मेहुल चौकसी पर कसेगा शिकंजा? ऐंटीगुआ के विदेश मंत्री से मिलीं सुषमा स्वराज

गौरतलब है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस समय संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली के 73वें अधिवेशन में हिस्सा लेने अमेरिका पहुंची हैं। यहीं उन्होंने ऐंटीगुआ के विदेश मंत्री के साथ एक द्विपक्षीय मीटिंग में मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण को लेकर मदद मांगी।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 27 Sep 2018, 16:21:40 IST

नई दिल्ली: भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को अमेरिका में ऐंटीगुआ के विदेश मंत्री ईपी चेट ग्रीन से मुलाकात की और पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के मामले में मदद मांगी। एंटिगुआ के विदेश मंत्री ने इस मामले में पूरा सहयोग करने का भरोसा दिया है। हालांकि मुलाकात के बाद जब उनसे इस बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने सुषमा स्वराज से बात करने को कहा।

गौरतलब है कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस समय संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली के 73वें अधिवेशन में हिस्सा लेने अमेरिका पहुंची हैं। यहीं उन्होंने ऐंटीगुआ के विदेश मंत्री के साथ एक द्विपक्षीय मीटिंग में मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण को लेकर मदद मांगी। इस मामले में जब ग्रीन से पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'इस बारे में आप अपनी (भारत की) विदेश मंत्री से ही पूछें।'

सूत्रों के मुताबिक सुषमा स्वराज ने एंटिगुआ के विदेश मंत्री से कानूनी प्रक्रिया के तहत मेहुल चोकसी को भारत लाने पर चर्चा की है। बता दें कि नौ हजार करोड़ का बैंक घोटाला करने के बाद नीरव मोदी और मेहुल चोकसी देश से फरार हैं। मेहुल चोकसी इस समय कैरेबियाई देश एंटिगुआ में छिपा हैं और वहां की नागरिकता भी हासिल कर ली है। इसके लिए चोकसी ने भारत से जरूरी पुलिस क्लियरेंस सर्टिफिकेट भी दिया था।

एंटिगुआ और भारत के बीच पहले ही प्रत्यर्पण संधि हो चुकी है। चोकसी के एंटीगुआ में छिपे होने की पुष्टि होने के बाद भारतीय एजेंसियां उस तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। हाल में ऐंटीगा सरकार की ओर से बताया गया था कि भारत की ओर से पुलिस क्लियरेंस मिलने के बाद ही भगोड़े कारोबारी को नागरिकता दी गई। अब दोनों देशों के विदेश मंत्री की इस मुलाकात के बाद चोकसी के भारत जल्द लाने की उम्मीद बढ़ गई है।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

More From US