Live TV
GO
Hindi News विदेश अमेरिका ‘अपने परमाणु हथियार और मिसाइलें करो...

‘अपने परमाणु हथियार और मिसाइलें करो नष्ट’, 70 देशों ने की उत्तर कोरिया से अपील

विश्व के 70 देशों ने उत्तर कोरिया से शुक्रवार को आग्रह किया कि उसे वैश्विक शांति को खतरा उत्पन्न कर रहे अपने परमाणु हथियार, बैलेस्टिक मिसाइल और संबंधित कार्यक्रम खत्म कर देने चाहिए।

Bhasha
Bhasha 11 May 2019, 12:13:21 IST

संयुक्त राष्ट्र: विश्व के 70 देशों ने उत्तर कोरिया से शुक्रवार को आग्रह किया कि उसे वैश्विक शांति को खतरा उत्पन्न कर रहे अपने परमाणु हथियार, बैलेस्टिक मिसाइल और संबंधित कार्यक्रम खत्म कर देने चाहिए। आग्रह करने वाले देशों में अमेरिका, दक्षिण कोरिया के साथ-साथ एशिया, लातिन अमेरिका और यूरोप के राष्ट्र शामिल हैं। रूस और चीन उत्तर कोरिया का समर्थन करते हैं, इसलिए उन्होंने इस दस्तावेज पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। इस दस्तावेज का मसौदा फ्रांस ने तैयार किया है।

दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने वाले देशों को उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार और बैलेस्टिक मिसाइल कार्यक्रम से क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा को बड़ा खतरा नजर आता है। इन देशों ने उत्तर कोरिया से किसी भी तरह की उकसावे की कार्रवाई से बचने का अनुरोध किया। उत्तर कोरिया ने बृहस्पतिवार को कम दूरी की दो मिसाइलों का परीक्षण किया था।

हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर कोरिया की ओर से हाल में किया गया मिसाइल परीक्षण ‘‘विश्वासघात’’ नहीं है। ट्रंप ने ‘पोलिटिको’ को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘ वे कम दूरी की (मिसाइल) थीं और मैं नहीं समझता कि यह विश्वासघात है।’’ ट्रंप ने कहा कि उनके उत्तर कोरिया के नेता किम जांग उन के साथ अच्छे संबंध हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि उत्तर कोरिया के नेता में उनका विश्वास किसी बिन्दु पर खत्म हो सकता है, लेकिन अभी बिल्कुल नहीं। 

उन्होंने कहा, ‘‘ मेरा मतलब है कि इसकी संभावना है, लेकिन फिलहाल ऐसा नहीं है।’’ किम ने पिछले साल लंबी दूरी की मिसाइलों का परीक्षण नहीं करने का ऐलान किया था। इसके बाद सितंबर में जून में ट्रंप और किम के बीच पहली शिखर वार्ता हुई थी। इसके बाद इस साल फरवरी में दोनों नेताओं के बीच हनोई में हुई दूसरी वार्ता बिना नतीजे के समाप्त हो गई थी। 

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

More From US