Live TV
  1. Home
  2. विदेश
  3. यूरोप
  4. चीन की नजर प्रशांत सम्मेलन पर,...

चीन की नजर प्रशांत सम्मेलन पर, न्यूजीलैंड ने चीन पर लगाया प्रशांत क्षेत्र में प्रभाव बढ़ाने का आरोप

न्यूजीलैंड ने चेतावनी दी है कि बीजिंग लंबे समय से उपेक्षित इस क्षेत्र में अपना प्रभाव बढ़ाना चाहता है........

India TV News Desk
Edited by: India TV News Desk 10 Jul 2018, 11:39:19 IST

वेलिंगटन: पापुआ न्यू गिनी (पीएनजी) ने कहा है कि चीन नवंबर में प्रशांत क्षेत्र के नेताओं के साथ सम्मलेन की योजना बना रहा है। इस बीच न्यूजीलैंड ने चेतावनी दी है कि बीजिंग लंबे समय से उपेक्षित इस क्षेत्र में अपना प्रभाव बढ़ाना चाहता है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग 12 से 18 नवंबर के बीच पोर्ट मोरेसबाय में होने वाली एशिया-पेसिफिक इकोनॉमिक कोऑपरेशन (एपीईसी) फोरम से पहले यह बैठक करना चाहते हैं।

पीएनजी के प्रधानमंत्री पीटर ओ नील ने फिजी संसद को कल संबोधित किया और कहा, 'मैं आपको चीन के राष्ट्रपति माननीय शी चिनफिंग के साथ प्रशांत क्षेत्र के नेताओं के सम्मेलन में शामिल होने के लिए आमंत्रित करता हूं।

एपीईसी नेताओं की बैठक से कुछ दिन पहले वह पापुआ न्यू गिनी के दौरे पर आएंगे, उसी दौरान यह बैठक होगी।' ओ नील ने यह नहीं बताया कि बैठक का एजेंडा क्या होगा। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड लंबे समय से क्षेत्र को अपना इलाका मानते रहे हैं लेकिन चीन बीते एक दशक से लगातार यहां अपना प्रभाव बढ़ा रहा 

है।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का विदेश सेक्‍शन
Web Title: चीन की नजर प्रशांत सम्मेलन पर, न्यूजीलैंड ने चीन पर लगाया प्रशांत क्षेत्र में प्रभाव बढ़ाने का आरोप