Live TV
  1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. अमेरिका ने रद्द की 30 करोड़...

अमेरिका ने रद्द की 30 करोड़ डॉलर की सहायता तो पाकिस्तान बोला- यह हमारा ही पैसा है

कुरैशी ने कहा कि इस मामले को 5 सितंबर को अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ की देश की यात्रा के दौरान उठाया जाएगा।

IndiaTV Hindi Desk
Edited by: IndiaTV Hindi Desk 03 Sep 2018, 16:04:16 IST

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अमेरिका द्वारा 30 करोड़ डॉलर (लगभग 2,100 करोड़ रुपये) की सैन्य सहायता रोके जाने पर कहा है कि यह पैसे पाकिस्तान के हैं जो उसने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में खर्च की थी। कुरैशी ने कहा कि यह रकम उसे वापस मिलनी चाहिए। पेंटागन ने शनिवार को घोषणा की थी कि वह आतंकवादी समूहों से निपटने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाने के चलते पाकिस्तान को दी जाने वाली 30 करोड़ डॉलर की सैन्य सहायता को रोकेगा। कुरैशी ने कहा कि इस मामले को 5 सितंबर को अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ की देश की यात्रा के दौरान उठाया जाएगा।

अमेरिका के निर्णय की घोषणा के बाद रविवार को जल्दबाजी में बुलाई गई प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कुरैशी ने कहा,‘30 करोड़ डॉलर न तो सहायता है और न ही सहयोग। पाकिस्तान ने यह राशि अपने संसाधनों से आतंकवादियों और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में खर्च की है। लेकिन अब वे इसे वापस देने के इच्छुक नहीं है। यह हमारा पैसा है जो हमने खर्च किया है और वे (अमेरिका) केवल इसकी प्रतिपूर्ति कर रहे थे।’ इससे पूर्व उन्होंने बीबीसी उर्दू से कहा कि सैद्धांतिक रूप से अमेरिका को पाकिस्तान को यह धनराशि वापस करनी चाहिए क्योंकि शांति और स्थिरता का माहौल बनाने और आतंकवाद को पराजित करने के उद्देश्य से इसे खर्च किया गया है।

उन्होंने कहा,‘हम बैठेंगे और उनके (पोम्पिओ) के साथ इस पर चर्चा करेंगे। हम दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को सुधारने का प्रयास करेंगे। हम उन्हें सुनेंगे और उनके समक्ष अपने रुख को रखेंगे।’ धनराशि रोके जाने पर पाकिस्तान के विकल्पों के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान अमेरिका से बात करेगा क्योंकि पाकिस्तान पहले ही यह धनराशि खर्च कर चुका है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पोम्पिओ की आगामी यात्रा का स्वागत करता है क्योंकि इससे एक दूसरे के नजरिये को समझने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और अमेरिका के बीच विश्वास में कमी आई है लेकिन सरकार संबंधों को सुधारना और दोनों देशों के बीच विश्वास बहाली चाहती है। कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सरकार मौजूदा तनाव या अमेरिका द्वारा धनराशि रोके जाने के लिए जिम्मेदार नहीं है। उन्होंने वर्तमान तनाव के लिए देश के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि इमरान खान की नयी सरकार पाकिस्तान के हितों को ध्यान में रखकर सभी फैसले लेगी।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का विदेश सेक्‍शन
Web Title: USD 300 million not aid, US owes money to Pakistan in CSF, says Qureshi