Live TV
GO
  1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. पाकिस्तान के मंदिर में तोड़फोड़, पवित्र...

पाकिस्तान के मंदिर में तोड़फोड़, पवित्र किताबें और मूर्तियां जलाई गईं; इमरान खान ने उठाया यह कदम

ये पहला मौका नहीं है जब पाकिस्तान के मंदिर में तोड़फोड़ किया गया है। इससे पहले खबर आई थी कि कराची जिले के मनोरा में स्थित वरुण देव मंदिर का एक हिस्सा शौचालय के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था। 

IndiaTV Hindi Desk
Edited by: IndiaTV Hindi Desk 06 Feb 2019, 11:10:01 IST

नई दिल्ली: पाकिस्तान के खैरपुर के कुम्ब मंदिर में तोड़फोड़ की खबर सामने आई है। खबर है कि कुछ उपद्रवियों ने मंदिर में रखी धर्म पुस्तकों को जला दी है और मूर्तियों को खंडित कर दिया है। खैरपुर पाकिस्तान के सिंध में है। इस खबर के सामने आने पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान फौरन हरकत में आए और उन्होंने स्थानीय प्रशासन को आरोपियों के खिलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने को कहा है। इमरान खान ने अपने ट्विट में कहा है, ‘’ऐसा करना पवित्र कुरान की तालीम के खिलाफ है।‘’

ये पहला मौका नहीं है जब पाकिस्तान के मंदिर में तोड़फोड़ किया गया है। इससे पहले खबर आई थी कि कराची जिले के मनोरा में स्थित वरुण देव मंदिर का एक हिस्सा शौचालय के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा था। 

जब पूजा के लिए मंदिर इस्तेमाल होता था तब 1950 के दशक में हिंदू समुदाय ने 'लाल साईं वरुण देव' का त्यौहार आखिरी बार मनाया गया था। अब मंदिर के कमरे और परिसर शौचालय के रूप में उपयोग किए जाते हैं। यह हिंदू समुदाय का बड़ा अपमान है। मंदिर का ख्याल रखने वाले जीवरीज ने बताया कि कोई भी अल्पसंख्यकों के अधिकारों का सम्मान नहीं करता है।

मंदिर मनोरा द्वीप पर स्थित है जो इसे पाकिस्तानी नौसेना के अधिकार क्षेत्र में लाता है। मीडिया द्वारा मंदिर के स्वामित्व के बारे में पूछताछ करने के लिए सैन्य संपत्ति अधिकारी (एमईओ) से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला और जब जीवराज ने मनोरा छावनी बोर्ड (एमसीबी) को लिखा तो उन्हें बताया गया कि यहां कोई रिकॉर्ड नहीं है।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Web Title: पाकिस्तान के मंदिर में तोड़फोड़, पवित्र किताबें और मूर्तियां जलाई गईं; इमरान खान ने उठाया यह कदम - Pakistan: Hindu temple vandalised in Sindh, holy books, idols burnt