Live TV
GO
  1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. दक्षेस को सक्रिय करने के लिए...

दक्षेस को सक्रिय करने के लिए अब्बासी ने की प्रचंड से चर्चा

नेपाल की यात्रा पर आए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने आज नेकपा( माओवादी केन्द्र) के अध्यक्ष प्रचंड से मुलाकात की और द्विपक्षीय कारोबारी रिश्तों को प्रगाढ़ करने के साथ- साथ दक्षेस प्रक्रिया को पटरी पर लाने के तरीकों पर चर्चा की।

India TV News Desk
Edited by: India TV News Desk 06 Mar 2018, 17:38:05 IST

काठमांडू: नेपाल की यात्रा पर आए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने आज नेकपा( माओवादी केन्द्र) के अध्यक्ष प्रचंड से मुलाकात की और द्विपक्षीय कारोबारी रिश्तों को प्रगाढ़ करने के साथ- साथ दक्षेस प्रक्रिया को पटरी पर लाने के तरीकों पर चर्चा की। अब्बासी ने राजधानी काठमांडू में आज सुबह प्रचंड से मुलाकात की। रिपब्लिका की रिपोर्ट के अनुसार दोनों नेताओं ने नेपाल और पाकिस्तान के बीच के रिश्तों पर चर्चा की। मुलाकात के बाद प्रचंड ने कहा कि अब्बासी के साथ द्विपक्षीय संबंधों और आपसी सरोकार के मुद्दों पर उनकी बात हुई। (निक्की हेली ने लगाया आरोप, इस्राइल को 'सता' रहा है संयुक्त राष्ट्र )

करीब 45 मिनट तक चली मुलाकात में उन्होंने आपस के कारोबारी एवं आर्थिक रिश्तों को प्रगाढ़ करने पर भी चर्चा की। माओवादी नेता ने कहा कि मुलाकात में दक्षेस को सक्रिय करने के लिए सभी सदस्य देशों की तरफ से पहल की जरूरत पर जोर दिया गया। उल्लेखनीय है कि 19वां दक्षेस शिखर सम्मेलन नवंबर 2016 में इस्लामाबाद में होना था। उरी आतंकवादी हमले में पाकिस्तान की संलिप्तता के मुद्दे पर भारत ने शिखर सम्मेलन के बायकाट की घोषण की थी जिसके बाद उसे रद्द कर दिया गया। दक्षेस के तीन अन्य सदस्य देश भी भारत के साथ शामिल हो गए थे।

अब्बासी ने नेपाली राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी से भी शिष्टाचार मुलाकात की और दक्षेस सचिवालय के तत्वावधान में आयोजित एक कार्यक्रम को भी संबोधित किया। वह कल नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली से मुलाकात कर चुके हैं। उन्होंने उनके साथ भी दक्षेस प्रक्रिया बहाल करने के मुद्दे पर चर्चा की।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Web Title: Pak PM Abbasi meets Oli on 2-day Nepal visit to revive stalled SAARC meet