Live TV
GO
Hindi News विदेश एशिया मालदीव संकट: विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त...

मालदीव संकट: विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव से की यह अपील

मालदीव में उपजे राजनीतिक संकट को दूर करने के लिए हिंद महासागरीय देश के विपक्षी दलों के गठबंधन ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव से एक अपील की है...

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 16 Feb 2018, 16:53:15 IST

कोलंबो: मालदीव में उपजे राजनीतिक संकट को दूर करने के लिए हिंद महासागरीय देश के विपक्षी दलों के गठबंधन ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव से एक अपील की है। मालदीव के विपक्षी दलों ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस से सरकार और उनके बीच हो रही बातचीत की मध्यस्थता करने का आग्रह किया है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख को भेजे गए एक पत्र में पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद की मालदीव डेमोक्रेटिक पार्टी (MDP) के नेतृत्व वाले संयुक्त गठबंधन ने चिंता जताई है कि अब्दुल्ला यामीन सरकार द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक हाल ही में उनके द्वारा की गई कार्रवाइयों पर अंतर्राष्ट्रीय आलोचना को कम करने का प्रयास है।

विपक्ष का यह आग्रह संयुक्त राष्ट्र के महासचिव द्वारा इस महीने की शुरुआत में मालदीव में राजनीतिक संकट खत्म करने के लिए सभी पार्टियों के बीच बातचीत आयोजित कराने की पेशकश के बाद आया है। MDP ने एक बयान में कहा कि सिर्फ ‘अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता’ वाली बातचीत ही स्वीकार्य है। विपक्ष ने कहा है कि सार्थक बातचीत के लिए सरकार को लोकतंत्र, कानून व्यवस्था और संविधान पर हमले बंद करना चाहिए। विपक्ष ने वार्ता को सार्थक बनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के फैसलों को पूर्णतया लागू करने और विपक्षी नेताओं और जजों को जेल से मुक्त करने की मांग रखी है।

मालदीव में लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए पहले राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद के साल 2012 में अपदस्थ होने के बाद से कई राजनीतिक संकट आए हैं। यह देश हाल ही में उस समय राजनीतिक संकट में घिर गया जब सुप्रीम कोर्ट ने विपक्ष के 9 नेताओं को रिहा करने का फैसला दिया। कोर्ट ने कहा था कि इन लोगों पर चले मुकदमे ‘राजनीति प्रेरित और त्रुटिपूर्ण’ हैं। कोर्ट के इस फैसले के बाद ही इस छोटे से देश में राजनीतिक भूचाल आ गया था।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

More From Asia