Live TV
GO
  1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. इसलिए चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की...

इसलिए चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग की ‘विनी द पूह’ से हो रही है तुलना, चीन की कड़ी कार्रवाई!

इंटरनेट पर की गई आलोचनात्मक टिप्पणियों को हटाने की खातिर देश के सेंसर अधिकारी ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रहे हैं...

Bhasha
Reported by: Bhasha 26 Feb 2018, 16:29:28 IST

बीजिंग: चीन की सत्ताधारी कम्यूनिस्ट पार्टी (CPC) की ओर से राष्ट्रपति शी चिनफिंग को सत्ता में अनिश्चित समय तक बने रहने की इजाजत देने के कदम की आलोचना शुरू हो गई है। CPC के इस कदम के खिलाफ इंटरनेट पर की गई आलोचनात्मक टिप्पणियों को हटाने की खातिर देश के सेंसर अधिकारी ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रहे हैं। दूसरी ओर, राजनीतिक पर्यवेक्षक CPC के इस कदम से चीन में एक व्यक्ति का शासन लौटने की आशंका देख रहे हैं। CPC के इस प्रस्ताव के बाद शी 2023 के बाद भी चीन के राष्ट्रपति बने रह सकते हैं।

चीन की कम्युनिष्ट पार्टी की ओर से अगले महीने प्रस्तावित संवैधानिक बदलावों की घोषणा के एक दिन बाद चीन में इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों ने खुद को अपने प्रोफाइल में बदलाव को मंजूर या नामंजूर करने में नाकाम पाया। यही नहीं, इस देश में ‘एक और कार्यकाल’ जैसे विषयों को इंटरनेट पर खोजने पर पाबंदी लगा दी गई थी। बहरहाल, सोशल मीडिया पर सक्रिय लोगों ने ‘विनी द पूह’ की तस्वीरें साझा की जिसमें वह शहद के एक बर्तन को गले लगाता नजर आ रहा है। इसके साथ ही एक पंक्ति लिखी है- आप जिसे प्यार करते हैं उसे पा लें और फिर उससे चिपके रहें।

गौरतलब है कि ‘विनी द पूह’ एक टेडी बियर के रूप में काल्पनिक किरदार है जिसकी रचना अंग्रेज लेखक ए ए मिल्ने ने की थी। इस डिजनी भालू के हावभाव की तुलना शी चिनफिंग से की जाती रही है जिसके कारण ‘विनी द पूह’ को समय-समय पर ऑनलाइन ब्लॉक किया जाता रहा है। CPC के इस नए प्रस्ताव के बाद शी चिनफिंग आधुनिक चीन के अब तक के सबसे ताकतवर नेताओं में शामिल हो गए हैं।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Web Title: China's censorship in overdrive after President Xi Jinping extends grip on power