Live TV
GO
Hindi News खेल अन्य खेल बजरंग पूनिया का बड़ा बयान, बोले-...

बजरंग पूनिया का बड़ा बयान, बोले- कुश्ती राष्ट्रीय खेल बनने का हकदार

विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता बजरंग ने शनिवार को भाषा से कहा, ‘‘कुश्ती ऐसा खेल है जिसने पिछले तीन ओलंपिक में देश को पदक दिया है।

Bhasha
Bhasha 27 Jan 2019, 17:16:22 IST

ग्रेटर नोएडा। राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता पहलवान बजरंग पूनिया ने कुश्ती को राष्ट्रीय खेल घोषित करने की मांग का समर्थन करते हुए कहा कि इस खेल ने पिछले तीन ओलंपिक में देश को पदक दिलाया है। विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदक विजेता बजरंग ने शनिवार को भाषा से कहा, ‘‘कुश्ती ऐसा खेल है जिसने पिछले तीन ओलंपिक में देश को पदक दिया है। 2008, 2012 और 2016 में इस खेल से देश को पदक मिला है। जो खेल देश के लिए पदक जीतता है उसे राष्ट्रीय खेल घोषित करने में कोई समस्या नहीं होनी चाहिए।’’ 

इससे पहले भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह ने सरकार से कुश्ती को राष्ट्रीय खेल बनाने की मांग की थी। बजरंग गणतंत्र दिवस पर पद्म श्री पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ियों की सूची में शामिल होने से उत्साहित हैं। देश को ओलंपिक में इस खिलाड़ी से सबसे ज्यादा उम्मीद है और बजरंग ने कहा कि इतना बड़ा नागरिक पुरस्कार मिलने से उनसे उम्मीदें और बढ़ेंगी। 

उन्होंने कहा, ‘‘ किसी भी खिलाड़ी को कोई सम्मान मिलता है तो उसकी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। यह सम्मान भारत सरकार देती है तो जाहिर है लोग उम्मीद करेंगे की कि मैं देश के लिए अच्छा प्रदर्शन करना जारी रखूं।’’ पद्म श्री पुरस्कार पाने के बाद बजरंग अपनी पहली बाउट को जीतने में सफल रहे। यहां खेली जा रही प्रो कुश्ती लीग में पंजाब रॉयल्स की कप्तानी कर रहे बजरंग ने 65 किलो भार वर्ग में टीम के लिए अहम मुकाबले में हरियाणा हैमर्स के रजनीश को 6-2 से शिकस्त दी जिससे पंजाब ने 4-3 से जीत कर सेमीफाइनल में जगह पक्की की। 

बजरंग ने कहा, ‘‘ इस मैच को जीतकर टीम ने सेमीफाइनल में जगह पक्की की। यह मैच हमारे लिए काफी मुश्किल था, हरियाणा की टीम तालिका में सबसे ऊपर है। रजनीश राष्ट्रीय चैम्पियन है और हम दोनों कई बार भिड़े हैं। मैं 2016 में इस टूर्नामेंट में उससे हार गया था लेकिन उसके बाद मैंने लगतार तीन बार जीत दर्ज की है। खेल में उतार-चढ़ाव चलता रहता है।’’ बजरंग ने कहा कि विदेश में अभ्यास करने से उनके खेल में काफी निखार आया है और उनका अगला लक्ष्य विश्व चैम्पियनशिप और ओलंपिक में दमदार प्रदर्शन करना है। 

पिछले साल तबिलिसी ग्रां प्री में स्वर्ण पदक जीतने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘ जॉर्जिया में प्रशिक्षण करने का फायदा यह हुआ की वहां अभ्यास में काफी अच्छे खिलाड़ी मिलते है। वहां शाको (बेंटिनिडिस) मेरे कोच है। मेरा ध्यान अप्रैल में होने वाली एशियाई चैम्पियनशिप और उसके बाद विश्व चैम्पियनशिप में अच्छा प्रदर्शन करने पर लगा है। विश्व चैम्पियनशिप पर ज्यादा ध्यान दे रहा हूं क्योंकि वहीं से ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मौका मिलेगा। मेरा लक्ष्य ओलंपिक में अच्छा करना है।’’ 

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Other Sports News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन