Live TV
GO
  1. Home
  2. खेल
  3. अन्य खेल
  4. फेडरर ने रचा इतिहास, 36 साल...

फेडरर ने रचा इतिहास, 36 साल में बने नंबर एक

रोजर फेडरर ने टेनिस जगत में नया इतिहास रचते हुए कल रात यहां रोटरडम ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचकर दुनिया का सबसे उम्रदराज नंबर एक खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया।

Bhasha
Reported by: Bhasha 17 Feb 2018, 13:34:22 IST

रोटरडम: रोजर फेडरर ने टेनिस जगत में नया इतिहास रचते हुए कल रात यहां रोटरडम ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचकर दुनिया का सबसे उम्रदराज नंबर एक खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया। स्विस खिलाड़ी फेडरर ने क्वार्टर फाइनल में नीदरलैंड के टोमी हास को 4-6, 6-1, 6-1 से हराकर एटीपी रैंकिंग में शीर्ष पर अपनी जगह सुनिश्चित की। वह राफेल नडाल की जगह दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बने हैं। 

फेडरर अभी 36 साल 195 दिन के हैं और इस तरह से वह सबसे अधिक उम्र में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बने हैं। उन्होंने आंद्रे अगासी का रिकार्ड तोड़ा जो 2003 में 33 साल 131 दिन की उम्र में नंबर एक बने थे। 

फेडरर ने कहा, ‘‘फिर से नंबर एक बनना मेरे लिये काफी मायने रखता है। यह बहुत खास है और इसलिए मैं खुश हूं। मैंने वास्तव में नहीं सोचा था कि मैं फिर से नंबर एक पर वापसी कर सकता हूं। यह मेरे करियर का महत्वपूर्ण क्षण है।’’ 

फेडरर इससे पहले 2012 में नंबर एक की कुर्सी पर काबिज थे और इस तरह से वह पांच साल 106 दिन के बाद फिर से शीर्ष पर पहुंचे हैं जो कि रिकार्ड है। अगासी 1996 के बाद 1999 में तीन साल 142 दिन के बाद नंबर एक बने थे जो इससे पहले नंबर एक के बीच सबसे लंबे अंतराल का रिकार्ड था। 

पिछले महीने आस्ट्रेलियाई ओपन के रूप में अपना 20वां ग्रैंडस्लैम जीतने वाले फेडरर पहली बार फरवरी 2004 में नंबर एक बने थे और इस तरह से उन्होंने पहली बार नंबर एक बनने और वर्तमान की अपनी उपलब्धि के बीच लंबे अंतराल का भी नया रिकार्ड बनाया। इससे पहले यह रिकार्ड नडाल के नाम पर था। 
अगासी ने फेडरर को फिर से दुनिया का नंबर एक खिलाड़ी बनने पर बधाई दी। 

अगासी ने अपनी ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘‘36 साल 195 दिन। रोजर फेडरर हमारे खेल का स्तर बढ़ाता रहा है। एक और उल्लेखनीय उपलब्धि पर बधाई। ’’ 

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Other Sports News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन
Web Title: फेडरर ने रचा इतिहास, 36 साल में बने नंबर एक