Live TV
GO
Hindi News खेल अन्य खेल बड़ा खुलासा! इस महिला एथलीट की...

बड़ा खुलासा! इस महिला एथलीट की वजह से दो पदक गंवा देता भारत, अब लगा 4 साल का बैन

विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी (वाडा) द्वारा कराये गए टेस्ट में शेरोन के अलावा मध्यम दूरी की धाविका संजीवनी यादव, झूमा खातून, चक्का फेंक खिलाड़ी संदीप कुमारी, शाटपुट खिलाड़ी नवीन सभी को प्रतिबंधित दवा के सेवन का दोषी पाया गया। 

Bhasha
Bhasha 27 Nov 2018, 12:54:51 IST

नई दिल्ली। एशियाई चैम्पियन क्वार्टर धाविका निर्मला शेरोन के डोप टेस्ट में नाकाम रहने से भारतीय एथलेटिक्स महासंघ को हैरानी नहीं हुई। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के अध्यक्ष आदिले सुमरिवाला ने कहा कि संदेह की वजह से ही उसे एशियाई खेलों में रिले दौड़ से बाहर रखा गया था। विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी (वाडा) द्वारा कराये गए टेस्ट में शेरोन के अलावा मध्यम दूरी की धाविका संजीवनी यादव, झूमा खातून, चक्का फेंक खिलाड़ी संदीप कुमारी, शाटपुट खिलाड़ी नवीन सभी को प्रतिबंधित दवा के सेवन का दोषी पाया गया। 

एशियाई खेलों में महिला की 400 मीटर दौड़ में चौथे स्थान पर रही शेरोन को वाडा की मांट्रियल लेबोरेटरी में हुए टेस्ट के बाद अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया गया था। इससे पहले नाडा द्वारा कराये गए टेस्ट में भी नमूने निगेटिव पाये गए थे। शेरोन ने पिछले साल भुवनेश्वर में एशियाई चैम्पियनशिप स्वर्ण जीता था। सुमरिवाला ने कहा, ‘‘निर्मला ने एशियाई खेलों से पहले किसी राष्ट्रीय शिविर में भाग नहीं लिया था और इसी वजह से हमने उसे किसी रिले स्पर्धा के लिये नहीं चुना। हम उसकी वजह से दो पदक गंवा देते। अब उस पर चार साल का प्रतिबंध लग गया है।’’ 

संजीवनी और झूमा ने एशियाई खेलों से पहले भूटान में एक शिविर में भाग लिया था। सुमरिवाला ने इन बातों को भी खारिज किया कि राष्ट्रीय शिविर में शामिल खिलाड़ी भी डोप के घेरे में है। उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रीय शिविर में भाग लेने वाले नियमित खिलाड़ियों में से कोई पाजीटिव नहीं पाया गया। भूटान में शिविर में भाग लेने वाले खिलाड़ी गुवाहाटी राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के बाद वहां गए थे।’’

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Other Sports News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन