Live TV
GO
Hindi News खेल क्रिकेट टीम इंडिया के ख़िलाफ़ चेन्नई, रांची...

टीम इंडिया के ख़िलाफ़ चेन्नई, रांची टेस्ट फ़िक्स थे? इंग्लैंड के तीन खिलाड़ी शक़ के घेरे में

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच दिसंबर 2016 में चेन्नई में हुए टेस्ट मैच पर फ़िक्सिंग का साया मंडरा रहा है. मैच फ़िक्सिंग को लेकर इंग्लैंड के तीन खिलाड़ी शक़ के घरे में हैं हालंकि इंग्लैंड के कप्तान जो रुट ने इसे बक़वास बताया है.

India TV Sports Desk
India TV Sports Desk 28 May 2018, 10:35:29 IST

टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच दिसंबर 2016 में चेन्नई में हुए टेस्ट मैच पर फ़िक्सिंग का साया मंडरा रहा है. मैच फ़िक्सिंग को लेकर इंग्लैंड के तीन खिलाड़ी शक़ के घरे में हैं हालंकि इंग्लैंड के कप्तान जो रुट ने इसे बक़वास बताया है. दरअसल अल जज़ीरा न्यूज़ चैनल ने रविवार को एक डाक्यूमेंट्री ''क्रिकेट के मैच फ़िक्सर्स'' टेलीकास्ट की जिसमें चेन्नई टेस्ट के फिक्स होने का दावा किया गया है. इसमें ऑस्ट्रेलिया के दो खिलाड़ियों पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं.

डेलीमेल के अनुसार उसे सभी पांचों खिलाड़ियों के नाम मालूम हैं लेकिन क़ानूनी उलझनों की वजह से इन्हें उजागर नहीं किया जा सकता. दूसरी तरफ इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने भी इन आरोपों का खंडन किया है. ICC ने रविवार को कहा कि वह पूरे मामले की जांच की जा रही है और वह मामले को पूरी गंभीरता से ले रही है. 

मूवी में 17 महीने पहले हुए टेस्ट मैच के एक 10 ओवर के दौरान इंग्लैंड के तीन खिलाड़ियों पर मैच फ़िक्स करने का आरोप लगाया गया है. हालंकि क़ानूनी उलझन की वजह ये नहीं बताया गया कि ये कौन से दस ओवर थे. प्रोग्राम में डी कंपनी का कथित सदस्य अनील मुनव्वर को बिजनेसमैन के भेस में एक अंडरकवर रिपोर्टर को ये कहते सुना गया है कि इंग्लैंड के कुछ खिलाड़ी उन दस ओवरों में रन बनाने में हेराफेरी करने के लिए तैयार हो गए थे ताकि बुकीज़ को फ़ायदा हो सके. 

फ़िल्म में दावा किया गया है कि पहले से जानकारी रखने वाला और पैसा लगाने वाला धनी व्यक्ति प्रति मैच लगभग 90 करोड़ रुपये तक कमा सकता है जबकि इसमें मदद करने वाले खिलाड़ियों की छह अंकों में कमाई हो सकती है.

प्रोग्राम के अनुसार इंग्लैंड के बल्लेबाज़ सटोरियों द्वारा तय किए गए रन से कम रन बनाने पर राज़ी हो गए थे. उन 10 ओवरों में से अंतिम ओवर को मंदा कहा जाता है यानी इस ओवर में दो से ज़्यादा रन नही बनते हैं.

हालंकि मैच फ़िक्सिंग का पूरा ब्यौरा नहीं बताया गया है लेकिन अल जज़ीरा ने इंटरनेशनल सेंटर फ़ॉर स्पोर्ट्स सिक्योरिटी के डायरेक्टर और इंटरपोल के पूर्व अधिकारी क्रिस इटॉन का हवाला दिया है जिन्होंने खेल का वह हिस्सा देखा जहां मैच फिक्सिंग का शक़ है. उनको चेन्नई और रांची टेस्ट के हिस्से दिखाए गए. ऑस्ट्रेलिया ने मार्च 2017 में रांची में टेस्ट मैच खेला था. इटॉन ने मैच का वीडियो देखने के बाद कहा: 'बहुत ही दमदार सबूत हैं. जैसा उसने (मुनव्वर) ने कहा था ठीक वैसा ही हुआ. ICC को चेन्नई और रांची टेस्ट की जांच करनी चाहिए. मुनव्वर ने जैसा कहा ठीक उसी तरह दो सेशन ख़त्म हुए.'

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन