Live TV
GO
Hindi News खेल क्रिकेट भारतीय क्रिकेट इतिहास में शास्त्री का...

भारतीय क्रिकेट इतिहास में शास्त्री का सबसे बड़ा आरोप, टीम के कोच के निशाने पर कौन ?

अफ्रीका दौरे की इन ऐतिहासिक तस्वीरों को आप कई बार देख चुके हैं। जब भी देखते होंगे आंखों में चमक आ जाती होगी। चेहरे पर मुस्कान छा जाती होगी। रोंगटे खड़े हो जाते होंगे। सीना गर्व से चौड़ा हो जाता होगा लेकिन अगर आपको बताए कि ऐसा भी कोई है।

India TV Sports Desk
India TV Sports Desk 28 Feb 2018, 19:01:38 IST

अफ्रीका दौरे की इन ऐतिहासिक तस्वीरों को आप कई बार देख चुके हैं। जब भी देखते होंगे आंखों में चमक आ जाती होगी। चेहरे पर मुस्कान छा जाती होगी। रोंगटे खड़े हो जाते होंगे। सीना गर्व से चौड़ा हो जाता होगा लेकिन अगर आपको बताए कि ऐसा भी कोई है। जो अफ्रीका में हिंदुस्तान की जीत नहीं चाहता। जिसको टीम इंडिया की हार चुभती है। ऐसे आलोचक जो विराट की जीत में कमियां ढूंढते हैं। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि ये बयान भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री ने दिया है। 

''हमें हमेशा से यकीन था कि हम जीत सकते हैं, लेकिन कभी आपको लगता है कि आपके देश में ऐसे लोग हैं...जो आपकी हार से ज्यादा खुश होते हैं... हमारे आलोचकों की सबसे बड़ी परेशानी है कि हम जब जीतते हैं, तो वो कहते हैं दूसरी टीम ने अच्छा नहीं खेला, जब श्रीलंका में जीते , तो उसको कमजोर टीम बता दिया... जब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीते, तो कहा गया वो पूरी मजबूती के साथ नहीं खेले, लेकिन जब टीम इंडिया हारती है, तो कोई ऐसा नहीं कहता है।''  

रवि शास्त्री ने किस शख्स को निशाने पर लिया है...ये हर कोई जानना चाहता है लेकिन ये भी सच है। जब ये टीम भारत  में जीत रही थी तो विदेश में जीतने का ताना मारा गया। जब श्रीलंका में क्लीन स्वीप का इतिहास रचा तो द.अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया का चैलेंज दिया गया और जब विराट एंड कंपनी ने अफ्रीका में शान से तिरंगा लहराया... तो इस जीत में कमियां ढूंढी जाने लगी।

द.अफ्रीका में भारत ने 5-1 से वनडे सीरीज जीती, 2-1 से टी-20 सीरीज जीते।1 टेस्ट मैच भी जीता दौरे में खेले गए 12 मैचों में 8 मैच भारत ने जीते हालांकि ये भी सच है। पहले टेस्ट के बाद डेल स्टेन बाहर हो गए थे। वनडे सीरीज में पहले मैच के बाद ड्प्लेसी सीरीज से बाहर हुए। शुरुआती 3 वनडे में डिविलियर्स नहीं खेले
टी-20 सीरीज में भी डिविलियर्स टीम का हिस्सा नहीं थे लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि हिंदुस्तानी की जीत की अहमियत कम हो गई।
 
हम खिलाड़ियों के खिलाफ नहीं खेलते हैं, हम देश के विरुद्ध खेलते हैं। मैं दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेल रहा हूं, अब अफ्रीकी टीम से कौन खेलता है, इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। खासकर जोहान्सबर्ग की जिस पिच भारत ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। उसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। अफ्रीका की इस चाल पर भी शास्त्री ने जमकर भड़ास निकाली।
 
हमने पिच की शिकायत नहीं की बल्कि उस पिच पर खेलकर हमने मैसेज दिया, हम हमारे देश में खेलने आओगे, तो पिच को लेकर सवाल मत उठाना, क्योंकि हम बहाने नहीं देते, हमको जो पिच मिली। हम उस पर खेले, ऐसे मेरे लड़के हैं. कोई शिकायत नहीं, कोई बहाने नहीं।

जाहिर है दक्षिण अफ्रीका में विराट एंड कंपनी ने जो इतिहास रचा है। उसने आलोचकों की बोलती बंद कर दी है और अब विराट आर्मी पर उंगली उठाने से पहले कम से कम 100 सोचना होगा।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें खेल सेक्‍शन