Live TV
  1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. रवि शास्त्री ने झूठ बोलकर कर...

रवि शास्त्री ने झूठ बोलकर कर दी द्रविड़, गांगुली, कुंबले और धोनी की बेइज्जती, आंकड़ों में जानिए सच्चाई

भारतीय टीम एक बार फिर से इंग्लैंड में सीरीज जीतने से महरूम रह गई। 2007 के बाद से टीम इंडिया इंग्लैंड में कोई भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है।

India TV Sports Desk
Written by: India TV Sports Desk 06 Sep 2018, 16:45:54 IST

ओवल। भारतीय टीम एक बार फिर से इंग्लैंड में सीरीज जीतने से महरूम रह गई। 2007 के बाद से टीम इंडिया इंग्लैंड में कोई भी टेस्ट सीरीज नहीं जीती है। यहां जारी 5 मैचों की टेस्ट सीरीज को टीम इंडिया 1-3 से गंवा बैठी है। अब टीम के पास टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच जीतकर सम्मान की विदाई हासिल करने का मौका है। हालांकि पांचवे मैच से पहले भारतीय कोच रवि शास्त्री ने एक ऐसा झूठ बोला है जिससे दिग्गज खिलाड़ियों के अचीवमेंट पर सवाल खड़े हो रहे हैं। दरअसल मुख्य कोच रवि शास्त्री ने यह कहकर टीम का मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया है कि यह पिछले 15 साल में विदेशी दौरों पर जाने वाली यह सर्वश्रेष्ठ टीम है। 

यही नहीं शास्त्री ने कहा कि अगर आप पिछले तीन साल के प्रदर्शन को देखें तो हमने विदेशी धरती पर नौ मैच जीते और तीन सीरीज (एक वेस्टइंडीज और दो श्रीलंका के खिलाफ) जीती हैं। उन्होंने कहा, "मुझे नहीं याद आता कि पिछले 15-20 वषों में किसी और भारतीय टीम ने इतने कम समय में इस तरह का प्रदर्शन किया हो, जबकि उस दौरान कई महान खिलाड़ी खेला करते थे। हमारे पास प्रतिभा है, लेकिन हमें मानसिक रूप से मजबूत होने की जरूरत है।"

आपको बता दें कि तथ्य शास्त्री की इन बातों से कतई मेल नहीं खाते। आंकड़े देखें तो सौरव गांगुली की अगुआई में भारत ने इंग्लैंड (2002) और आस्ट्रेलिया (2003-04) में सीरीज ड्रा करवाई और वेस्टइंडीज में टीम टेस्ट मैच और पाकिस्तान में सीरीज जीतने में सफल रही। 

वहीं राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में भारत ने वेस्टइंडीज में 2006 और इंग्लैंड में 2007 में सीरीज जीतीं और दक्षिण अफ्रीका में भी टीम एक टेस्ट जीतने में सफल रही। अनिल कुंबले की अगुआई में भारत ने पर्थ के उछाल भरे विकेट पर पहली बार टेस्ट जीता जबकि महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारत ने न्यूजीलैंड में सीरीज जीती और पहली बार दक्षिण अफ्रीका में सीरीज ड्रा कराने में सफल रहा। 

लेकिन अब दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में लगातार दो सीरीज गंवाने के बाद विदेशी दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम इंडिया का मिथक टूट गया है और टीम इंडिया यह साबित करने में नाकाम रही है कि वे उपमहाद्वीप के बाहर सीरीज जीतने में सक्षम हैं। कोहली की टीम हालांकि 2018 में दोनों विदेशी सीरीज गंवाने के बावजूद अब तक अपनी शीर्ष टेस्ट रैंकिंग बचाने में सफल रही है। हालांकि शास्त्री का ये कहना कि मौजूदा टीम से पहले की टीमों ने विदेश दौरों से अच्छा प्रदर्शन नहीं किया, तो तथ्यात्मक रूप से बिल्कुल गलत है। इससे पूर्व दिग्गजों की एचीवमेंट पर कहीं न कहीं सवाल खड़े होते हैं। 

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Cricket News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का खेल सेक्‍शन
Web Title: Ravi Shastri comments on previous indian team overseas performance are factually incorrect