Live TV
GO
Hindi News पैसा बाजार मुनाफावसूली के कारण सेंसेक्‍स रिकॉर्ड ऊंचाई...

मुनाफावसूली के कारण सेंसेक्‍स रिकॉर्ड ऊंचाई से आया नीचे, 180 अंक गिरकर 38,877 पर हुआ बंद

तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 179.53 अंक यानी 0.46 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,877.12 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सेंसेक्स में करीब 450 अंक का उतार-चढ़ाव आया।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 03 Apr 2019, 17:26:30 IST

मुंबई। शेयर बाजारों में पिछले चार दिन से जारी तेजी पर बुधवार को विराम लग गया। मुनाफावसूली तथा इस साल मानसून सामान्य से कमजोर रहने के अनुमान से बीएसई सेंसेक्स करीब 180 अंक गिरकर बंद हुआ। दुनिया के अन्य प्रमुख शेयर बाजारों में तेजी के बावजूद घरेलू बाजार रिकॉर्ड ऊंचाई को कायम नहीं रख सका। तेल एवं गैस, दूरसंचार, धातु एवं स्वास्थ्य से जुड़ी कंपनियों के शेयर  नुकसान में रहे।

तीस शेयरों वाला सेंसेक्स 179.53 अंक यानी 0.46 प्रतिशत की गिरावट के साथ 38,877.12 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान सेंसेक्स में करीब 450 अंक का उतार-चढ़ाव आया। नेशनल स्‍टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरूआती बढ़त को बरकरार नहीं रख सका और 69.25 अंक यानी 0.59 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,643.95 अंक पर बंद हुआ। 

सेंकटम वेल्थ मैनेजमेंट के मुख्य निवेश अधिकारी सुनील शर्मा ने कहा कि मानक सूचकांकों में शुरूआती तेजी बरकरार नहीं रह पाई और ये स्काईमेट के मानसून सामान्य से कमजोर रहने के अनुमान के बाद गिरावट के साथ बंद हुए। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक की गुरुवार को होने वाली मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा से पहले यह गिरावट आई है। रिजर्व बैंक की ओर से आर्थिक वृद्धि को गति देने के इरादे से नीतिगत दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती की उम्मीद की जा रही है। हालांकि, यह भी माना जा रहा है कि मानसून के कमजोर रहने तथा पहले से धीमी आर्थिक वृद्धि के साथ मुद्रास्फीति में नरमी को देखते हुए आरबीआई नीतिगत दर में ऊंची कटौती कर सकता है।

सेंसेक्स के शेयरों में एसबीआई सर्वाधिक नुकसान में रहा। इसमें 2.40 प्रतिशत की गिरावट आई। इसके अलावा यस बैंक, भारती एयरटेल, एलएंडटी, सन फार्मा, महिंद्रा एंड महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक, ओएनजीसी, आरआईएल, एशियन पेंट्स, वेदांमता तथा एचयूएल में 2.37 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई।  

वहीं दूसरी तरफ मारुति, एचसीएल टेक, एचडीएफसी, टाटा स्टील, पावर ग्रिड, हीरो मोटो कॉर्प तथा टीसीएस 2.78 प्रतिशत तक लाभ में रहे। इस बीच, अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) पूंजी बाजार में शुद्ध रूप से लिवाल रहे। उन्होंने मंगलवार को 543.36 करोड़ रुपए की पूंजी डाली। वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 437.70 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। 

एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग 1.22 प्रतिशत, कोरिया का कोस्पी 1.20 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.97 प्रतिशत तथा शंघाई कंपोजिट सूवकांक 1.24 प्रतिशत मजबूत हुए। यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में फ्रैंकफर्ट का डीएएक्स 1.33 प्रतिशत तथा पेरिस सीएसी40-0.74 प्रतिशत मजबूत हुए, जबकि लंदन का एफटीएसई 0.04 प्रतिशत नीचे आया। 

More From Market