Live TV
GO
Hindi News पैसा गैजेट फर्जी खबरों को रोकने के लिए...

फर्जी खबरों को रोकने के लिए व्‍हॉट्सएप ने शुरू किया दूसरे चरण का अभियान, क्षेत्रीय भाषाओं पर है जोर

व्हॉट्सएप के प्लेटफॉर्म से फर्जी खबरों के प्रसार के बाद भीड़ की हिंसा की घटनाओं की वजह से वह लगातार आलोचनाओं के घेरे में है।

India TV Paisa Desk
Edited by: India TV Paisa Desk 25 Mar 2019, 21:14:22 IST

नई दिल्ली। इंस्‍टैंट मैसेज भेजने वाले प्‍लेटफॉर्म व्हॉट्सएप ने फर्जी खबरों पर अंकुश के लिए देशभर में अपना दूसरे चरण का अभियान खुशी साझा करो, अफवाह नहीं शुरू कर दिया है। यह अभियान क्षेत्रीय भाषाओं में भी चलाया जा रहा है। यह अभियान टीवी, प्रिंट और रेडियो के अलावा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी चलाया जाएगा।

व्हॉट्सएप ने बयान में कहा कि अप्रैल में भारत में आम चुनाव शुरू हो रहे हैं। व्हॉट्सएप ने अपना दूसरे चरण का अभियान खुशी साझा करो, अफवाह नहीं शुरू कर दिया है। पहले चरण का अभियान ग्रामीण और शहरी इलाकों में लाखों लोगों तक पहुंचा है। व्हॉट्सएप का दूसरे चरण का अभियान एक सुरक्षित चुनाव प्रक्रिया पर केंद्रित है।  

व्हॉट्सएप के प्लेटफॉर्म से फर्जी खबरों के प्रसार के बाद भीड़ की हिंसा की घटनाओं की वजह से वह लगातार आलोचनाओं के घेरे में है। प्रमुख सोशल मीडिया कंपनियों फेसबुक, ट्विटर और गूगल ने स्वैच्छिक रूप से इस संहिता पर हस्ताक्षर किए हैं कि आम चुनाव के दौरान उनके प्‍लेटफॉर्म का इस्तेमाल फर्जी खबरों के प्रसार के लिए नहीं होने दिया जाएगा। 

व्हॉट्सएप के भारत में प्रमुख अभिजीत बोस ने कहा कि चुनाव आयोग तथा स्थानीय भागीदारों के साथ सुरक्षित चुनाव के लिए अग्रसारी तरीके से काम करना हमारी प्राथमिकता है। हम अपने अभियान के जरिये लोगों को इस बात के लिए जागरूक करेंगे कि वे आसानी से दुर्भावना वाले संदेशों को पहचान सकें। यह अभियान दस भाषाओं अंग्रेजी, हिंदी, बांग्ला, कन्नड़, तेलुगू, असमिया, गुजराती, मराठी, मलयालम और तमिल में शुरू किया गया है। 

Web Title: WhatsApp starts second phase of campaign to curb fake news | फर्जी खबरों को रोकने के लिए व्‍हॉट्सएप ने शुरू किया दूसरे चरण का अभियान, क्षेत्रीय भाषाओं पर है जोर

More From Gadgets