Live TV
GO
Hindi News पैसा गैजेट Make in India: पैनासोनिक भारत से...

Make in India: पैनासोनिक भारत से करेगी 100 करोड़ रुपए के होम एप्‍लायसेस का निर्यात

जापान की दिग्गज कंपनी पैनासोनिक का लक्ष्य अगले तीन साल में भारत से रसोई के सामान के निर्यात के जरिए 100 करोड़ रुपये का कारोबार करना है।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 19 Sep 2018, 19:44:51 IST

नई दिल्ली। जापान की दिग्गज कंपनी पैनासोनिक ने बुधवार को कहा कि दक्षेस, अमेरिका और मलेशिया जैसे देशों से भारी मांग को देखते हुए उसका लक्ष्य अगले तीन साल में भारत से रसोई के सामान के निर्यात के जरिए 100 करोड़ रुपये का कारोबार करना है। कंपनी पहले ही बिजली से चलने वाले कूकर और मिक्सर ग्राइंडर जैसे उत्पादों का निर्यात दूसरे देशों में कर रही है और पिछले वित्त वर्ष में कंपनी ने इसके जरिए 64 करोड़ रुपये जुटाए थे। 

पैनासोनिक की स्थापना के 100 वर्ष और रसोई के सामानों में देश में 30 साल पूरे करने पर पैनासोनिक इंडिया के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी मनीष शर्मा एवं पैनासोनिक एप्लायंसेस इंडिया के प्रबंध निदेशक हिडेनोरी असो ने बुधवार को ऐलान किया कि अक्तूबर के आखिर में भारत में निर्मित राइस कूकर एसआर-एमसी03 का निर्यात जापान को किया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि यह उल्लेखनीय घटनाक्रम है क्योंकि स्वचालित राइस कूकर का आविष्कार जापान में किया गया था लेकिन अब भारत में निर्मित राइस कूकर का निर्यात वहां किया जाएगा। पैनासोनिक इंडिया वर्तमान में 43 देशों में रसोई के सामान का निर्यात करता है और जापान इस लिहाज से 44वां ऐसा देश होगा, जहां कंपनी अपने उत्पादों का निर्यात करेगी। 

शर्मा ने कहा है कि यह प्रगति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ की दृष्टि के अनुरूप है। कंपनी का भारत में पिछले वित्त वर्ष में 10,200 करोड़ रुपये का कारोबार रहा। उन्होंने बताया कि 1988 में पैनासोनिक इंडिया ने किचन एप्लायसेंस के क्षेत्र में कदम रखते हुए चेन्नई में एक कारखाने की स्थापना की थी। 

इस कारखाने में वर्तमान में 10 लाख राइस कूकर और रसोई के 14.3 सामानों की उत्पादन क्षमता है। कंपनी का लक्ष्य अगले पांच साल में 30 करोड़ रुपये के निवेश के साथ उत्पादन क्षमता में वृद्धि करना है। उन्होंने कहा कि आने वाला समय स्मार्ट एप्लायंसेस का है और इसी को ध्यान में रखते हुए पैनासोनिक इंडिया ने देश में ‘इंडिया इनोवेशन सेंटर’ की स्थापना की है।