Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. अप्रैल में थोक महंगाई दर 4...

अप्रैल में थोक महंगाई दर 4 महीने की ऊंचाई पर, ईंधन के दाम बढ़ने का असर

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी की वजह से देशभर में महंगाई बढ़ने लगी है। वाणिज्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल के दौरान थोक महंगाई दर (WPI) 4 महीने के ऊपरी स्तर पर दर्ज की गई है।

Manoj Kumar
Reported by: Manoj Kumar 14 May 2018, 12:36:13 IST

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी की वजह से देशभर में महंगाई बढ़ने लगी है। वाणिज्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल के दौरान थोक महंगाई दर (WPI) 4 महीने के ऊपरी स्तर पर दर्ज की गई है। आंकड़ो के मुताबिक अप्रैल में थोक महंगाई में 3.18 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, मार्च में यह दर 2.47 प्रतिशत और पिछले साल अप्रैल में 3.85 प्रतिशत दर्ज की गई थी।

थोक महंगाई में बढ़ोतरी की वजह ईंधन यानि पेट्रोल और डीजल के दाम में हुआ इजाफा है, WPI में फ्यूल और पावर इंफ्लेशन की हिस्सेदारी करीब 13.15 प्रतिशत है और इनकी महंगाई में अप्रैल के दौरान 7.85 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, मार्च में इनकी महंगाई में सिर्फ 4.70 प्रतिशत और पिछले साल अप्रैल में 17.11 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी।

Web Title: अप्रैल में थोक महंगाई दर 4 महीने की ऊंचाई पर, ईंधन के दाम बढ़ने का असर