Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. आधार डेटा में सेंधमारी के विकीलीक्‍स...

आधार डेटा में सेंधमारी के विकीलीक्‍स के दावों को UIDAI ने ठुकराया, प्रणाली को पूरी तरह बताया सुरक्षित

UIDAI ने ऐसी खबरों को खारिज किया है कि कुछ विदेशी एजेंसियों ने आधार के बायोमेट्रिक डाटा तक कथित तौर पर पहुंचने का रास्ता बना लिया था।

Manish Mishra
Manish Mishra 28 Aug 2017, 9:28:23 IST

नई दिल्ली भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने कहा कि आधार प्रणाली में डाटा सेंधमारी से बचाव के ठोस उपाय किए गए हैं। UIDAI ने ऐसी खबरों को खारिज किया है कि कुछ विदेशी एजेंसियों ने आधार के बायोमेट्रिक डाटा तक कथित तौर पर पहुंचने का रास्ता बना लिया था। प्राधिकरण का बयान विकीलीक्स उसी रिपोर्ट के बाद आया है जिसमें उसने संकेत दिया है कि अमेरिका की खुफिया एजेंसी CIA आधार के डेटाबेस तक पहुंचने का रास्ता कथित रुप से बना लिया था।

यह भी पढ़ें : ETF यूनिट्स को PF खाते में डालने पर विचार कर रहा है EPFO, सब्‍सक्राइबर्स को होंगे ये फायदे

इन आरोपों का खंडन करते हुए UIDAI ने कहा है कि आधार के लिए बायोमेट्रिक आंकड़ों को जुटाने की प्रणाली हमारे देश के भीतर ही विकसित की गई है और इसमें पर्याप्त और आधुनिक सुरक्षा फीचर हैं जो किसी भी संभावित अनाधिकृत पहुंच या किसी भी प्रकार के बायोमेट्रिक डिवाइस में डाटा के ट्रांसमिशन को रोकने में सक्षम है। प्राधिकरण ने कहा कि इस तरह की गलत खबरें निजी हितों के लिए फैलाई जा रही हैं।

यह भी पढ़ें : जुलाई से अबतक पेट्रोल 6 रुपए और डीजल 3.67 रुपए हुआ महंगा, 3 साल के उच्‍च स्‍तर पर पहुंचा पेट्रोल का दाम

UIDAI ने कहा कि आधार प्रणाली में उपयोग किया जाने वाला किसी भी तरह का बायोमेट्रिक उपकरण पूरी तरह आंतरिक जांच के बाद उपयोग किया जाता है और बाहर इस तरह के उपकरणों को मानक परीक्षण गुणवत्‍ता प्रमाण पत्र के माध्यम से प्रमाणित किया जाता है। अभी तक 117 करोड़ लोगों को आधार संख्या दी गई है और प्रतिदिन करीब 4 करोड़ आधार प्रमाणन किए जाते हैं। आज तक आधार के बायोमेट्रिक आंकड़े के रिसाव का एक भी मामला सामने नहीं आया है।

Web Title: आधार डेटा में सेंधमारी के विकीलीक्‍स के दावों को UIDAI ने ठुकराया