Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस UIDAI ने वर्चुअल आईडी सिस्‍टम के...

UIDAI ने वर्चुअल आईडी सिस्‍टम के लिए समयसीमा बढ़ाई, अब 1 जुलाई से होगा लागू

UIDAI ने बैंक व दूरसंचार कंपनियों जैसे सेवा प्रदाताओं व एजेंसियों के लिए वर्चुअल पहचान प्रणाली पूरी लगाने व आधार के बदले इस तरह की आईडी स्वीकार करने की समय सीमा एक महीने बढ़ाकर अब 1 जुलाई कर दी है।

Manish Mishra
Manish Mishra 31 May 2018, 17:34:25 IST

नई दिल्ली। UIDAI ने बैंक व दूरसंचार कंपनियों जैसे सेवा प्रदाताओं व एजेंसियों के लिए वर्चुअल पहचान प्रणाली पूरी लगाने व आधार के बदले इस तरह की आईडी स्वीकार करने की समय सीमा एक महीने बढ़ाकर अब 1 जुलाई कर दी है। वर्चुअल आईडी (वीआईडी) का उद्देश्य उपयोगकर्ताओं को यह विकल्प उपलब्ध करवाना है कि उन्हें प्रमाणन के समय अपना आधार नंबर नहीं बताना पड़े। आधार जारी करने वाली यूआईडीएआई ने इससे पहले कहा था कि सभी एजेंसियों के लिए यह अनिवार्य होगा कि वे 1 जून 2018 से वीआईडी स्वीकार करें।

यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडे ने कहा कि हम तो तैयार हैं लेकिन एजेंसियों को वर्चुअल पहचान (वीआईडी) प्रणाली अपनाने के लिए कुछ और समय चाहिए। इसलिए हमने एक महीने और यानी 1 जुलाई तक का समय दिया है। उन्होंने कहा कि ‘आंतरिक काम व दिक्कतों’ को देखते हुए यह समयसीमा बढ़ाने का फैसला किया गया है।

इस साल जनवरी में आधार के मामले में निजता से जुड़ी चिंताओं को दूर करते हुये भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने वर्चुअल पहचान प्रणाली शुरू करने की घोषणा की थी। इस प्रणाली के जरिये कोई भी आधार कार्ड धारक अपनी वेबसाइड से निकाल सकेगा और विभिन्न पहचान कार्यों के लिये इसका इस्तेमाल कर सकेगा। वर्चुअल पहचान का इस्तेमाल 12 अंक वाले आधार कार्ड के स्थान पर किया जा सकेगा।

More From Business