Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस पुलवामा हमले के बाद चाय निर्यातकों...

पुलवामा हमले के बाद चाय निर्यातकों ने पाकिस्‍तान को दिया कड़ा जवाब, कहा देश पहले व्‍यापार बाद में

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि पाकिस्तान से एमएफएन का दर्जा वापस लेने के भारत के फैसले से पड़ोसी देश की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ेगा, जो पहले से गहरे संकट में है।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 17 Feb 2019, 7:46:56 IST

कोलकाता। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन द्वारा सीआरपीएफ जवानों पर हमले के बाद प्रमुख चाय निर्यातकों ने कहा है कि वे सरकार के साथ हैं और व्यापार का मुद्दा गौण हो गया है। 

इंडिया टी एक्सपोर्ट्स एसोसिएशन (आईटीईए) के चेयरमैन अंशुमान कनौड़िया ने कहा कि हम अब पाकिस्तान के साथ व्यापार के बारे में सोच भी नहीं रहे हैं। हम सरकार के साथ मजबूती से खड़े हैं और सरकार की कार्रवाई की प्रतीक्षा कर रहे हैं।  

पाकिस्तान को चाय का निर्यात करने वाले गोपाल पोद्दार ने कहा कि अब हमें कारोबार की परवाह नहीं है। व्यापार अब गौण हो गया है। पुलवामा में आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत ने पाकिस्तान को दिये गए तरजीही राष्ट्र के दर्जे को वापस ले लिया है। 

तरजीही देश का दर्जा वापस लेने से पाक की अर्थव्यवस्था पर पड़ेगा असर 

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि पाकिस्तान से सर्वाधिक तरजीही राष्ट्र (एमएफएन) का दर्जा वापस लेने के भारत के फैसले से पड़ोसी देश की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ेगा, जो पहले से गहरे संकट में है। 

पुलवामा पर आतंकवादी हमले के बाद भारत ने शुक्रवार को पाकिस्तान को दिया गया एमएफएन का दर्जा वापस ले लिया है। कुमार ने कहा कि पाकिस्तान को दिया गया एमएफएन का दर्जा वापस लेने के निर्णय का उसकी अर्थव्यवस्था पर असर पड़ेगा, जो पहले से ही गहरे संकट में है।  

उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ भारत का निर्यात पाकिस्तान के बाजार पर बहुत कम निर्भर है और इसे सफलतापूर्वक पश्चिम एशिया के बाजारों में स्थानांतरित किया जा सकता है। कुमार ने आगे कहा कि भारत का बड़ा बाजार अब पाकिस्तान के निर्यात के लिए बंद होगा। नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा कि कश्मीर में अत्यंत उकसावे वाली कार्रवाई के बाद भारत एमएफएन का दर्जा वापस लेने के लिए बाध्य हुआ है।

More From Business