Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस SpiceJet प्रमुख अजय सिंह IATA बोर्ड...

SpiceJet प्रमुख अजय सिंह IATA बोर्ड में हुए शामिल, 2019 में ग्‍लोबल एयरलाइंस को होगा 28 अरब डॉलर का मुनाफा

स्पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने कहा कि वह अपने ऑपरेशन का विस्तार करने के लिए बंद पड़ी जेट एयरवेज के पायलेट और कैबिन क्रू सहित 2,000 लोगों की नई भर्ती करेंगे।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 02 Jun 2019, 14:49:39 IST

सिओल। किफायती एयरलाइन स्पाइसजेट के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक अजय सिंह को अंतरराष्ट्रीय हवाई परिवहन संघ (आईएटीए) के बोर्ड के लिए रविवार को चुना गया। जेट एयरवेज के संस्थापक और पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल आईएटीए से लंबे समय तक जुड़े थे और पुराने बोर्ड के सदस्य भी थे। 

लुफ्थांसा समूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कार्स्टन स्फोर को एयरलाइन कंपनियों के वैश्विक संगठन के बोर्ड का नया चेयरमैन चुना गया है। उन्होंने आईएटीए की वार्षिक आम बैठक संपन्न होने के बाद रविवार को यह पदभार संभाल लिया। स्फोर एक वर्ष के कार्यकाल के लिए आईएटीए बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के चेयरमैन रहेंगे। मार्च में आईएटीए की सदस्यता लेने वाली स्पाइसजेट भारत की पहली किफायती एयरलाइन बनी। 

स्‍पाइसजेट के चेयरमैन अजय सिंह ने कहा कि वह अपने ऑपरेशन का विस्‍तार करने के लिए बंद पड़ी जेट एयरवेज के पायलेट और कैबिन क्रू सहित 2,000 लोगों की नई भर्ती करेंगे। स्‍पाइसजेट ने जेट एयरवेज द्वारा उपयोग किए जाने वाले 22 विमानों को भी पट्टे पर लिया है।

वैश्विक एयरलाइन उद्योग को 2019 में होगा 28 अरब डॉलर का मुनाफा होगा

हवाई परिवहन उद्योग के संगठन ने ईंधन की महंगाई और व्यापारिक तनाव के मद्देनजर वैश्विक एयरलाइन उद्योग के 2019 के लाभ के बारे में अपना अनुमान घटा कर 28 अरब डॉलर कर दिया। इससे पहले इस साल 35.5 अरब डॉलर के मुनाफे का अनुमान था। 

आईएटीए ने कहा कि ईंधन के बढ़ते दाम और कमजोर होते वैश्विक व्यापार से कारोबारी वातावरण प्रभावित हो रहा है। आईएटीए ने 290 एयरलाइंस का समूह है। आईएटीए ने कहा कि कुल लागत 7.4 प्रतिशत बढ़ेगी, जो राजस्व वृद्धि से अधिक होगी। राजस्व वृद्धि 6.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है। इसके अलावा आईएटीए का अनुमान है कि प्रति यात्री मुनाफा 2019 में घटकर 6.12 डॉलर रह जाएगा जो पिछले साल 6.85 डॉलर रहा था। 

जेट एयरवेज के ठप होने के बाद भारतीय बाजार में अवसर घट रहे हैं

स्टार अलायंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जेफ्री गोह ने कहा है कि जेट एयरवेज का परिचालन ठप होने के बाद भारतीय विमानन बाजार में अवसर कम हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत एक बड़ा विमानन बाजार है और एयर इंडिया हमारे सदस्यों को एक महत्वपूर्ण घरेलू नेटवर्क उपलब्ध कराती है लेकिन जेट का परिचालन बंद होने की वजह से अवसर कम हुए हैं। 

स्टार अलायंस में 28 एयरलाइंस सदस्य हैं, जिनमें एयर इंडिया भी शामिल हैं। एयर इंडिया जुलाई, 2014 में समूह की सदस्य बनी। गोह ने कहा कि भारतीय उपमहाद्धीप में एयर इंडिया अलायंस के लिए काफी महत्वपूर्ण है। यह उसके सदस्यों को जोड़ने के लिए महत्वपूर्ण घरेलू नेटवर्क उपलब्ध कराती है। 

More From Business