Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस क्षेत्रीय दलों में अखिलेश की पार्टी...

क्षेत्रीय दलों में अखिलेश की पार्टी सबसे अमीर, केजरीवाल की पार्टी ने नहीं दी है कमाई की जानकारी: ADR

चुनावों में खर्च, उम्मीदवारों की कमाई और राजनीतिक दलों के कमाई को लेकर आंकड़े जारी करने वाली निजी संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) ने मंगलवार को देश के क्षेत्रीय दलों की कमाई के आंकड़े जारी किए हैं जिनके मुताबिक अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी सभी क्षेत्रीय दलों में सबसे ज्यादा कमाई वाली पार्टी है, ADR ने इन आंकड़ों को राजनीतिक दलों के द्वारा चुनाव आयोग में भेजी गई वित्त वर्ष 2016-17 की ऑडिट रिपोर्ट से लिया है

Manoj Kumar
Manoj Kumar 23 May 2018, 11:20:01 IST

नई दिल्ली। चुनावों में खर्च, उम्मीदवारों की कमाई और राजनीतिक दलों के कमाई को लेकर आंकड़े जारी करने वाली निजी संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) ने मंगलवार को देश के क्षेत्रीय दलों की कमाई के आंकड़े जारी किए हैं जिनके मुताबिक अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी सभी क्षेत्रीय दलों में सबसे ज्यादा कमाई वाली पार्टी है, ADR ने इन आंकड़ों को राजनीतिक दलों के द्वारा चुनाव आयोग में भेजी गई वित्त वर्ष 2016-17 की ऑडिट रिपोर्ट से लिया है।

ADR की रिपोर्ट के मुताबिक देश के 32 क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की 2016-17 में कुल कमाई 321.03 करोड़ रुपए है जिसमें समाजवादी पार्टी (SP) की हिस्सेदारी 25.78 प्रतिशत यानि 82.76 करोड़ रुपए है, दूसरे नंबर पर चंद्रबाबू नायडू की तेलगू देशम पार्टी (TDP) है जिसकी कुल कमाई 72.92 करोड़ रुपए है और तीसरे नंबर पर तमिलनाडू में सत्ता पर बैठी ऑल इंडिया अन्नाद्रमुख (AIADMK) है जिसकी कमाई 48.88 करोड़ रुपए बताई गई है। कुल 32 क्षेत्रीय राजनीतिक दलों में से टॉप के 3 दल यानि SP, TDP और AIADMK की कुल कमाई 204.56 करोड़ बैठती है जो 32 क्षेत्रीय दलों की कुल कमाई का 63.72 प्रतिशत है।

ADR के मुताबिक करीब 16 राजनीतिक दल ऐसे हैं जिन्होंने 2016-17 के लिए चुनाव आयोग में अपनी ऑडिट रिपोर्ट सौंपी ही नहीं है, ऐसे में उनकी कमाई का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता, जिन दलों ने अपनी ऑडिट रिपोर्ट नहीं दी है उनमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (AAP), लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और उमर अबदुल्ला की पार्टी जम्मु-कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस (JKNC) शामिल हैं।

ADR की रिपोर्ट के मुताबिक 32 क्षेत्रीय दलों में से 14 दल ऐसे हैं जिनकी कमाई में गिरावट आई है जबकि 13 दलों की कमाई बढ़ी है, 5 दल ऐसे हैं जिन्होंने 2015-16 के लिए अपनी ऑडिट रिपोर्ट नहीं सौंपी थी। कुल 32 दलों में से 17 दल ऐसे हैं जिन्होंने 2016-17 में अपनी कमाई से कोई खर्च नहीं किया है जबकि 15 दलों ने कमाई से ज्यादा खर्च कर दिया।