Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस दिवाली से पहले शेयर मार्किट ने...

दिवाली से पहले शेयर मार्किट ने लगाई छलांग, सेंसेक्स 718 अंक उछला

बाजार में सोमवार को जोरदार तेजी आयी और बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 718 अंक से अधिक उछलकर 34,000 अंक के ऊपर पहुंच गया। कंपनियों के बेहतर तिमाही परिणाम तथा आरबीआई के नकदी बढ़ाने के कदम के बीच आईसीआईसीआई तथा एसबीआई समेत बैंक शेयरों में तेजी से बाजार में मजबूती आयी।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 29 Oct 2018, 18:18:14 IST

मुंबई: बाजार में सोमवार को जोरदार तेजी आई और बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 718 अंक से अधिक उछलकर 34,000 अंक के ऊपर पहुंच गया। कंपनियों के बेहतर तिमाही परिणाम तथा आरबीआई के नकदी बढ़ाने के कदम के बीच आईसीआईसीआई तथा एसबीआई समेत बैंक शेयरों में तेजी से बाजार में मजबूती आयी। नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 220 अंक से अधिक की बढ़त के साथ 10,250 अंक पर आ गया। दो दिनों से जारी गिरावट के बाद 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 718.09 अंक या 2.15 प्रतिशत की तेजी के साथ 34,067.40 पर पहुंच गया। शुरूआती कारोबार में यह 173.33 अंक या 0.52 प्रतिशत की बढ़त के साथ 33,522.64 अंक पर खुला था।

नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 220.85 अंक या 2.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 10,250 अंक के स्तर को प्राप्त कर लिया। सेंसेक्स के शेयरों में आईसीआईसीआई बैंक 11 प्रतिशत उछला। उसके बाद भारतीय स्टेट बैंक का स्थान रहा जो 8.04 प्रतिशत मजबूत हुआ। सेंसेक्स के कुल लाभ में अकेले आईसीआईसीआई का योगदान 200 अंक से अधिक रहा। निजी क्षेत्र का देश का शीर्ष बैंक आईसीआईसीआई बैंक चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में लाभ में आया जिससे उसके शेयर में मजबूती आयी। पहली तिमाही में बैंक को 119.55 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था। हालांकि सालाना आधार पर आईसीआईसीआई बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ सितंबर 2018 को समाप्त तिमाही में 42 प्रतिशत घटकर 1,204.62 करोड़ रुपये रहा।

सेंसेक्स में शामिल जिन अन्य शेयरों में तेजी आयी, उसमें अडाणी पोट्र्स, एल एंड टी, एक्सिस बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील तथा टीसीएस में 7.33 प्रतिशत तक मजबूत हुए। डा. रेड्डीज का शेयर एनएसई में 5.29 प्रतिशत मजबूत हुआ। कंपनी का शुद्ध लाभ सितंबर तिमाही में 77 प्रतिशत बढ़कर 504 करोड़ रुपये रहने की खबर से शेयर चमका। रिजर्व बैंक के बैंकों में नवंबर में सरकारी शेयरों की खरीद के जरिये 40,000 करोड़ रुपये की पूंजी डालने के लिर्णय से बाजार धारणा को बल मिला। नकदी समस्या से निपटने के लिये यह कदम उठाया गया है। शेयर खान के कोष प्रबंधक (पीएमएस) रोहित श्रीवास्तव ने कहा कि बाजार खराब धारणा अधिक बिकवाली के बाद बाहर आया है। अल्पकाल के लिहाज से अच्छा संकेत यह है कि सौदों को पूरा करने के लिये की गयी लिवाली से बाजार में तेजी आयी।

उन्होंने कहा, ‘‘तेजी व्यापक है जो अच्छा संकेत है। सरकारी बैंक जैसे कमजोर क्षेत्रों का प्रदर्शन बेहतर रहा...।’’ तेल के दाम सोमवार को नीचे आये। ब्रेंट क्रूड तेल वायदा 31 सेंट्स घटकर 77.31 डालर बैरल पर आ गया जबकि वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट का भाव 28 सेंट्स घटकर 67.31 डालर पर रहा। इस बीच, चीनी अर्थव्यवस्था में नरमी को लेकर चिंता से एशिया के अन्य बाजारों में रुख नरम रहा। शंघाई कंपोजिट सूचकांक 2.2 प्रतिशत तथा जापान का निक्केई 0.2 प्रतिशत नीचे आये। वहीं हैंग सेंग सूचकांक 0.4 प्रतिशत मजबूत हुआ। यूरोप के प्रमुख शेयर बाजारों में शुरूआती कारोबार में तेजी रही।

More From Business