Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस दोबारा नोटबंदी की खबरों का RBI...

दोबारा नोटबंदी की खबरों का RBI ने किया खंडन, नोटों की छपाई में लाई गई और तेजी

देशभर में एटीएम से नोट गायब होने और दोबारा नोटबंदी की चर्चा के बीच भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मंगलवार की शाम को यह स्‍पष्‍ट किया है कि देश में नकदी की कोई कमी नहीं है और न ही दोबारा नोटबंदी होने वाली है।

Abhishek Shrivastava
Abhishek Shrivastava 17 Apr 2018, 20:26:04 IST

नई दिल्‍ली। देशभर में एटीएम से नोट गायब होने और दोबारा नोटबंदी की चर्चा के बीच भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने मंगलवार की शाम को यह स्‍पष्‍ट किया है कि देश में नकदी की कोई कमी नहीं है और न ही दोबारा नोटबंदी होने वाली है। केंद्रीय बैंक ने कहा है कि वॉल्ट और करेंसी चेस्ट में पर्याप्त नकदी उपलब्‍ध है।

आरबीआई ने कहा है कि देश में बड़े नोटों की कमी को देखते हुए चारों नोट छापने की प्रेस में छपाई का काम तेज कर दिया गया है। देश के कुछ हिस्सों में नकदी की जो कमी दिख रही है वह लॉजिस्टिक्स कारणों से है, जिसे जल्‍द ही सुधारा जाएगा। बैंक ने यह भी कहा कि एटीएम में नोटो की कमी का एक कारण रीकैलीब्रेशन भी है जो अभी चल रहा है।

इससे पहले आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा था कि देश के कुछ हिस्‍सों में 500 रुपए के नोटों की कमी को खत्‍म करने के लिए आरबीआई 500 रुपए के नोटों की छपाई पांच गुना बढ़ाएगी। आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, उत्‍तरी बिहार और देश के बाकी कुछ हिस्‍सों से नोटों की कमी की खबरें आ रही हैं। सरकार ने कहा है कि नकदी कमी का प्रमुख कारण देश के कुछ हिस्‍सों में असमान्‍य रूप से बड़े नोटों की मांग में वृद्धि होना है। वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने भी आज कहा है कि सरकार के पास पर्याप्‍त नकदी मौजूद है और नकदी की कमी से निपटने के लिए हम पूरी तरह तैयार हैं।   

देवास प्रिंटिंग प्रेस में तेज हुई नोटों की छपाई

देश में गहराते नकदी संकट के बीच मध्य प्रदेश के देवास जिले में स्थित बैंक नोट प्रेस में नोटों की छपाई की रफ्तार बढ़ा दी गई है। मंगलवार से नोट छपाई का काम तीनों पाली में शुरू हो गया है। बैंक नोट प्रेस के सूत्रों के अनुसार, अभी तक दो पाली में ही नोट छपाई का काम चल रहा था, लेकिन मंगलवार से तीनों पालियों में नोट छपाई का काम शुरू हो गया है। देवास में 500 तथा 200 रुपए मूल्य के नोट छापे जा रहे हैं।

सूत्रों का कहना है कि नोटों की बढ़ती किल्लत के कारण ही नोट छपाई में तेजी लाई गई है। तीनों पालियों में छपाई का काम होने से नोट उत्पादन में इजाफा होगा। उल्लेखनीय है कि इन दिनों एटीएम में नोटों की कमी के कारण देश के कई हिस्सों में विषम हालात बन रहे हैं। लोगों को एटीएम पर कतार में लगना पड़ रहा है, तो कई एटीएम में नोट ही नहीं हैं। 

More From Business