Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस भारतीय रेल में राजधानी और शताब्दी...

भारतीय रेल में राजधानी और शताब्दी ट्रेनों की जगह लेंगी T20 और T18 गाड़ियां

रेलवे की चेन्नई स्थित इंटिग्रल कोच फैक्टरी (ICF) ने ट्रेन को डिजाइन कर लिया है और इस साल जून तक 16 एसी डिब्बों वाली पहली ट्रेन को उतारा जा सकता है।

Manoj Kumar
Manoj Kumar 23 Jan 2018, 16:36:44 IST

नई दिल्ली। देश में बुलेट ट्रेन के आने पहले भारतीय रेल सेमी हाई-स्पीड गाड़ियों को लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है। यह गाड़ियां बुलेट ट्रेन की रफ्तार से तो नहीं चलेंगी लेकिन मौजूदा समय में सबसे तेज चलने वाली शताब्दी और राजधानी गाड़ियों से ज्यादा फास्ट होंगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रेलवे इसी साल जून में इस तरह की ट्रेन उतारने जा रहा है जो यात्रियों को उनके स्थान पर पहुंचाने के लिए शताब्दी और राजधानी ट्रेनों के मुकाबले 20 प्रतिशत कम समय लेगी। इससे यात्रियों के समय की बचत होगी और साथ में रेलवे की लागत भी कम हो सकती है।

​चेन्नई में बन रही है ट्रेन

रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे की चेन्नई स्थित इंटिग्रल कोच फैक्टरी (ICF) ने ट्रेन को डिजाइन कर लिया है और इस साल जून तक 16 एसी डिब्बों वाली पहली ट्रेन को उतारा जा सकता है। ट्रेन में यात्रियों के लिए विश्व स्तरीय सुविधाएं होने का दावा किया जा रहा है।

T18 ट्रेन की खास बातें

ट्रेन का नाम T18 रखा गया है और ऐसी संभावना है कि यह ट्रेन मौजूदा समय में चल रही शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों की जगह लेगी। रिपोर्ट के मुताबिक T18 ट्रेन 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी। यानि दिल्ली से जयपुर करीब डेढ़ घंटे में और दिल्ली से लखनऊ की दूरी करीब सवा तीन घंटे में पूरी हो जाएगी। ट्रेन में मनोरंजन के लिए फ्री वाई-फाई, जीपीएस आधारित सूचना सिस्टम होगा। ट्रेन में यात्रियों के लिए विश्व स्तरीय सुविधाएं होने की बात कही जा रही है और इसकी बॉडी स्टील से बनी होगी। इस ट्रेन में 16 कोच होंगे।

ऐसी होगी T20 ट्रेन

T18 के अलावा ICF T20 ट्रेन पर भी काम कर रहा है जिसके बारे में कहा जा रहा है कि यह भविष्य में राजधानी ट्रेनों की जगह लेगी। T18 की तरह T20 भी 160 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चलेगी। रिपोर्टस के मुताबिक मौजूदा समय में दिल्ली से हावड़ा जाने वाली राजधानी ट्रेन जितना समय लेती है T20 उसके मुकाबले 3 घंटे 35 मिनट कम समय लेगी। T20 के 2020 में शुरू होने की संभावना जताई जा रही है। ट्रेन में 20 कोच होंगे। 

More From Business