Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस आज से भीम एप के जरिए...

आज से भीम एप के जरिए बुक करा सकेंगे रेल रिजर्वेशन टिकट, 3000 रेलवे काउंटर्स पर शुरू हुई सुविधा

रेलवे ने 1 दिसंबर से नई सुविधा शुरू की है। आज से आप भीम एप के जरिए रेलवे टिकट बुक करा सकते हैं। यह सुविधा देश के सभी आरक्षण केंद्रों पर लागू होगी।

Sachin Chaturvedi
Sachin Chaturvedi 01 Dec 2017, 10:41:41 IST

नई दिल्‍ली। रेलवे ने 1 दिसंबर से नई सुविधा शुरू की है। आज से आप भीम एप के जरिए रेलवे टिकट बुक करा सकते हैं। यह सुविधा देश के सभी आरक्षण केंद्रों पर लागू होगी। मोदी सरकार के कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है। यह नई सुविधा इस दिशा में रेल मंत्रालय का यह कदम महत्वपूर्ण माना जा रहा है। रेलवे बोर्ड के मेंबर ट्रैफिक मोहम्मद जमशेद ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि देशभर के 3000 से ज्यादा रेलवे आरक्षण केंद्र यानी पीआरएस काउंटर्स पर भीम ऐप के जरिए कैशलेस भुगतान की व्यवस्था शुरु की जा रही है। रेलवेे केे अनुसार नोटबंदी से पहले लगभग 58 प्रतिशत आरक्षित टिकट ऑनलाइन बुक होती थी. अक्टूबर 2016 के बाद से यह संख्या बढ़कर 70 प्रतिशत हो गई है। ऐसे में यह संंख्‍या 12% बढ़ी है।

मेंबर ट्रैफिक मोहम्मद जमशेद के अनुसार भारत में रोजाना तकरीबन 15 लाख रिजर्वेशन टिकट बुक कराए जाते हैं। इन रेल टिकटों में से तकरीबन 6 लाख टिकट पीआरएस काउंटर्स पर बुक किए जाते हैं इन सभी काउंटर्स पर क्रेडिट और डेबिट कार्ड के जरिए पैसे का भुगतान करने की व्यवस्था है लेकिन यहां पर ज्यादातर लोग कैश के जरिए ही भुगतान करते हैं। ऐसे में रेलवे ने भीम ऐप का सहारा लेने की कवायद शुरू की है. मोहम्मद जमशेद के मुताबिक इस ऐप के जरिए पीआरएस काउंटर पर कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा मिलेगा पीआरएस काउंटर पर भीम ऐप के जरिए छोटी रकम के साथ-साथ बड़ी रकम का भुगतान करना भी काफी सुविधाजनक और सुरक्षित होगा।

रेलवे ने कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए टिकट खरीदने के बाद पैसे ट्रांसफर करने की व्यवस्था पर अगले 3 महीने तक कोई अतिरिक्त शुल्क ना लगाने का फैसला किया है। इस दौरान रेल मंत्रालय कैशलेस ट्रांजेक्शन पर लोगों के रिस्पांस पर पैनी नजर रखेगा और अगर इस वजह से कैशलेस ट्रांजैक्शन में तेज बढ़ोतरी होती है तो इसको आगे भी जारी रखा जाएगा। गौरतलब है कि रोजाना भारतीय रेलवे में पूरे देश में 80 करोड़ रुपए का भुगतान आरक्षित टिकट की खरीदारी में किया जाता है। इस रकम में से 30 करोड़ रुपए की कीमत की आरक्षित टिकट की खरीददारी आरक्षण केंद्रों पर होती है और बाकी टिकट इंटरनेट के जरिए बुक कराए जाते हैं।