Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. पी-नोट्स इन्‍वेस्‍टमेंट में चार महीने बाद...

पी-नोट्स इन्‍वेस्‍टमेंट में चार महीने बाद हुआ इजाफा, मार्च में 2.23 लाख रुपए आए भारतीय बाजार में

पी-नोट्स के जरिये भारतीय पूंजी बाजार में होने वाला निवेश मार्च 2016 में 2.23 लाख करोड़ रुपए रहा, फरवरी में पी-नोट्स निवेश 18 महीने के निचले स्‍तर पर था।

Abhishek Shrivastava
Abhishek Shrivastava 25 Apr 2016, 16:28:32 IST

नई दिल्‍ली। पार्टीसिपैटरी नोट्स (पी-नोट्स) के जरिये भारतीय पूंजी बाजार में होने वाला निवेश मार्च 2016 में 2.23 लाख करोड़ रुपए रहा, इससे पिछले माह यानी फरवरी 2016 में पी-नोट्स निवेश 18 महीने के निचले स्‍तर पर था। पिछले चार महीने में पहली बार पी-नोट्स के जरिये होने वाले निवेश में वृद्धि हुई है। पिछले साल नवंबर से पी-नोट्स के जरिये होने वाले निवेश में लगातार कमी आ रही थी।

विदेशी अति धनाढ्य लोगों (हाई नेटवर्थ इंडीविजुअल्‍स), हेज फंड्स और अन्‍य विदेशी संस्‍थान द्वारा पी-नोट्स का इस्‍तेमाल किया जाता है। पी-नोट्स निवेशकों को भारतीय बाजार में रजिस्‍टर्ड विदेशी पोर्टफोलियो इन्‍वेस्‍टर्स (एफपीआई) के जरिये निवेश की अनुमति देते हैं। एफपीआई भारतीय बाजार के प्रमुख स्रोत हैं। इससे निवेशकों का समय और लागत दोनों की बचत होती है। हालांकि इसका एक दूसरा पक्ष यह भी है कि इसके जरिये काले धन का प्रवाह भी होता है।

सेबी के आंकड़ों के मुताबिक मार्च में भारतीय बाजारों (इक्विटी, डेट और डेरीवेटिव्‍स) में पी-नोट्स का कुल निवेश 2,23,077 करोड़ रुपए रहा है, जो कि फरवरी में 2,17,740 करोड़ रुपए था। फरवरी का आंकड़ा अगस्‍त 2014 के बाद का सबसे निचला स्‍तर था। अगस्‍त 2014 में पी-नोट्स के जरिये कुल निवेशित राशि 2.11 लाख करोड़ रुपए थी। अक्‍टूबर में पी-नोट्स का निवेश 2.58 लाख करोड़, नवंबर में 2.54 लाख करोड़, दिसंबर में 2.35 लाख करोड़, जनवरी में 2.31 लाख करोड़ और फरवरी में 2.17 लाख करोड़ रुपए था। मार्च में पी-नोट्स ने 1.38 लाख करोड़ रुपए इक्विटी में, जबकि शेष राशि डेट और डेरीवेटिव्‍स मार्केट में निवेश किए हैं।

Web Title: पी-नोट्स इन्‍वेस्‍टमेंट में चार महीने बाद हुआ इजाफा