Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस निसान के शेयरधारकों ने घोसन को...

निसान के शेयरधारकों ने घोसन को बोर्ड से हटाने की दी मंजूरी, दो दशक लंबा कार्यकाल हुआ खत्‍म

घोसन (65) पर जापान की अदालतों में कथित रूप से करोड़ों डॉलर के अपने वेतन को गलत तरीके से लिखने तथा व्यक्तिगत नुकसान की भरपाई करने के लिए कंपनी की किताबों का उपयोग कर निसान के विश्वास का हनन करने के आरोप हैं।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 08 Apr 2019, 17:30:17 IST

टोक्यो। निसान मोटर कंपनी के शेयरधारकों ने हिरासत में लिए गए कंपनी के पूर्व चेयरमैन कार्लोस घोसन को सोमवार को कंपनी के बोर्ड से हटाने की मंजूरी दे दी। इसके साथ ही जापानी कार निर्माता कंपनी में उनका लगभग दो दशक लंबा कार्यकाल खत्म हो गया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, इसके बाद घोसन कंपनी में किसी पद पर नहीं रहेंगे। घोसन के खिलाफ इस समय वित्तीय गड़बड़ियों के कई मामले चल रहे हैं। घोसन को पिछले साल टोक्यो में सबसे पहले गिरफ्तार किए जाने के तीन दिन बाद 22 नवंबर को चेयरमैन के पद से हटा दिया गया था।

लेकिन वे आज तक बोर्ड सदस्यों में शामिल थे। निसान के पूर्व अधिकारी और घोसन के सहयोगी ग्रेग केली को भी हटा दिया गया है। ग्रेग को भी गिरफ्तार किया गया था। घोसन के स्थान पर रेनॉल्ट के चेयरमैन जीन-डोमिनिक सेनार्ड को निदेशक बनाया गया है।

इसके लिए शेयरधारकों की एक असाधारण बैठक टोक्‍यो के एक होटल में बुलाई गई। यह 65 वर्षीय घोसन के 19 नवंबर 2018 में गिरफ्तार होने के बाद कंपनी की ओर से बुलाई गई पहली ऐसी बैठक है। 

घोसन (65) पर जापान की अदालतों में कथित रूप से करोड़ों डॉलर के अपने वेतन को गलत तरीके से लिखने तथा व्यक्तिगत नुकसान की भरपाई करने के लिए कंपनी की किताबों का उपयोग कर निसान के विश्वास का हनन करने के आरोप हैं।

घोसन चार अप्रैल को जमानत पर रिहा हुए थे, उन्हें ओमान स्थित निसान डीलरशिप को हुए भुगतान में कथित अनियमितता पाए जाने के बाद दोबारा गिरफ्तार किया गया था। इसके अगले दिन टोक्यो में एक अदालत ने घोसन को 14 अप्रैल तक हिरासत में लेने का आग्रह स्वीकार कर लिया था। अदालत अनुमति देकर इसे 10 दिन और बढ़ाया जा सकता है। घोसन शुरुआत से ही हर मामले में खुद को बेकसूर बता रहे हैं।

More From Business