Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस आज से कई नियमों में होगा...

आज से कई नियमों में होगा बड़ा बदलाव, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 100.50 रुपए सस्ता

आज (1 जुलाई 2019) से देश में ये नियम बदल जाएंगे, जिनका आपकी जेब पर सीधा असर असर होगा।

India TV Business Desk
India TV Business Desk 01 Jul 2019, 10:16:34 IST

नई दिल्ली। आज (1 जुलाई 2019) से देश में ये नियम बदल जाएंगे, जिनका आपकी जेब पर सीधा असर असर होगा। आज से ऑनलाइन ट्रांजेक्‍शन, होम लोन से जुड़े नए नियम लागू होंगे। जहां एक ओर बैंकों से जुड़े 3 बदलाव आज से लागू होने जा रहे हैं, वहीं अब आपके लिए कार खरीदना महंगा हो सकता है। साथ ही स्‍मॉल सेविंग स्‍कीम्‍स की ब्‍याज दर पर भी कैंची चल सकती है। आज से उपभोगताओं को रसोई गैस सिलेंडर की नई कीमतें देनी होंगी। बिना सब्सिडी वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर का दाम 100.50 रुपये प्रति सिलेंडर घट गया है। एक जुलाई से दिल्ली में घरेलू इस्तेमाल का सिलेंडर 637 रुपये में उपलब्ध होगा। आइए जानते हैं क्या बड़े बदलाव होने जा रहे हैं जो आप पर सीधा असर डालेंगे।

Online transaction ऑनलाइन ट्रांजेक्‍शन NEFT-RTGS पर चार्ज खत्म

सबस पहले खुशखबरी! भारतीय रिजर्व बैंक ने आरटीजीएस और एनईएफटी (NEFT-RTGS) के जरिए पैसा ट्रांसफर करने पर लगने वाले चार्ज को आज से खत्म करने की घोषणा की है। इसका मतलब यह हुआ कि अब रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) और नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) के जरिए ट्रांजेक्‍शन करने वाले लोगों को किसी भी तरह का एक्‍स्‍ट्रा चार्ज नहीं देना होगा। इसके अलावा आरबीआई ने RTGS के जरिए पैसे भेजने का समय डेढ़ घंटे बढ़ाकर शाम 6 बजे तक कर दिया है। डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए रिजर्व बैंक ने इसे खत्म कर दिया है। बता दें कि देश का सबसे बड़ा भारतीय स्टेट बैंक NEFT के जरिए पैसे ट्रांसफर के लिए एक रुपये से 5 रुपये का शुल्क लेता है। वहीं RTGS के राशि स्थानांतरित करने के लिए वह 5 से 50 रुपये का शुल्क लेता है। 

sbi home loan

SBI का होम लोन रीपो रेट से जुड़ेगा 

अगर आप स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक हैं तो 1 जुलाई से होम लोन से जुड़े बदलाव के लिए तैयार रहें। दरअसल, देश का सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) 1 जुलाई से अपने होम लोन की ब्याज दरों को रीपो रेट से जोड़ देगा। यानी, अब SBI होम लोन की ब्याज दर पूरी तरह रीपो रेट पर आधारित हो जाएंगी। यानी रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जितनी बार रेपो रेट में बदलाव करेगा उतनी बार होम लोन के ब्‍याज दरों में भी बदलाव होगा। फिलहाल, एसबीआई अपने तरीके से ब्‍याज दरों में कटौती करता है। अब यह समझना जरूरी है कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी या एमपीसी) वर्ष में छह बार यानी हर दूसरे महीने नीतिगत ब्याज दरों की समीक्षा करती है जिनमें रीपो रेट भी शामिल है। स्पष्ट है कि अगर हर द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में रीपो रेट में बदलाव हुआ तो SBI के होम लोन की ब्याज दरें भी उसी के मुताबिक घटेंगी या बढ़ेंगी। 

rbi BSBD अकाउंट के नियम भी बदलेंगे

1 जुलाई से बेसिक सेविंग बैंक अकाउंट (BSBD अकाउंट) को लेकर कई नियम बदलने जा रहे हैं। बैंकों में बेसिक अकाउंट रखने वाले ग्राहकों को चेक बुक और अन्य सुविधाएं मिलेंगी। इसके अलावा, ऑनलाइन बैंकिंग की मदद से पैसा भेजने और मंगाने पर किसी तरह का चार्ज नहीं लगेगा। वहीं सरकारी स्कीम का पैसा चेक से निकालना चाहते हैं तो इसके लिए कोई चार्ज नहीं भरना होगा। यही नहीं, साथ ही सरकारी रकम की चेक से निकासी और जमा पर कोई चार्ज नहीं लगेगा। बैंक इन सुविधाओं के लिए खाताधारकों को कोई न्यूनतम राशि रखने के लिए नहीं कह सकते। ऐसे बैंक खाताधारकों का कैश डिपॉजिट फ्री में होगा।

बता दें कि प्राथमिक बचत बैंक जमा खाता (बीएसबीडी अकाउंट) से आशय ऐसे खातों से है, जिसे शून्य राशि से खोला जा सकता है। वित्तीय समावेशी अभिभयान के तहत आरबीआई ने बैंकों से बचत खाते के रूप में बीएसबीडी खाते की सुविधा देने की अनुमति दी है। RBI ने बैंकों के लिए अपने जीरो बैलंस अकाउंट होल्डर्स को सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स जितनी सुविधाएं देना अनिवार्य नहीं किया है, बल्कि उन्हें अनुमति दी है। इसका मतलब है कि बैंक अगर चाहें तो नए नियम के तहत जीरो बैलंस वाले खाताधारकों को चेकबुक जैसी सुविधाएं दे सकते हैं। साथ ही, वह महीने में चार बार जमा और निकासी की सीमा खत्म कर सकते हैं और जीरो बैलंस अकाउंट वालों को भी जितनी बार चाहे पैसे जमा कराने या निकालने की अनुमति दे सकते हैं। लेकिन, इसके लिए कोई फीस नहीं लगाई जा सकती है। 

Mahindra and mahindra vehicles

कार खरीदना होगा महंगा 

अगर आप महिंद्रा या मारुति की कार खरीदने की सोच रहे हैं तो 1 जुलाई से भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। दरअसल, ऑटोमोबाइल कंपनी महिंद्रा ऐंड महिंद्रा (M&M) ने अपने पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की कीमत में 36,000 रुपये तक का इजाफा करने का फैसला किया है। कंपनी के इस फैसले के बाद महिंद्रा स्कॉर्पियो, बोलेरो, एक्सयूवी500 जैसी कार महंगी हो जाएंगी। इसी तरह मारुति सुजुकी इंडिया ने अपनी लोकप्रिय कॉम्पैक्ट सेडान कार डिजायर की कीमत में 12,690 रुपये तक की वृद्धि की है। दरअसल, महिंद्रा ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि भारत में सभी यात्री वाहनों में 145 सुरक्षा मानदंड लागू होने से यह वृद्धि की जा रही है। कंपनी ने कहा कि वह स्कॉर्पियो, बोलेरो, टीयूवी 300 और केयूवी 100 नेक्सट की कीमतों में थोड़ा ज्यादा और एक्सयूवी 500 तथा माराजो के दामों में मामूली वृद्धि की जाएगी। महिंद्रा ने कहा कि एआईएस 145 सुरक्षा नियम वाहन में कुछ सुरक्षा फीचर्स लगाने को अनिवार्य बनाते हैं।

savings बचत योजनाओं के ब्‍याज दर पर चलेगी कैंची

अगर आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF), सुकन्या योजना या फिर नेशनल सेविंग स्‍कीम (NSC) के तहत निवेश करते हैं तो आपको 1 जुलाई से बड़ा झटका लग सकता है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो मोदी सरकार स्मॉल सेविंग्स स्कीम पर ब्‍याज दर में कटौती करने की तैयारी में है। सरकार जल्‍द ही इसको लेकर नोटिफिकेशन जारी कर सकती है। यह कटौती जुलाई-सितंबर की अवधि के लिए 0.30 फीसदी तक की हो सकती है। 

lpg cylinder घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 100.50 रुपये सस्ता 

आज से उपभोगताओं को रसोई गैस सिलेंडर की नई कीमतें देनी होंगी। बिना सब्सिडी वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर का दाम 100.50 रुपये प्रति सिलेंडर घट गया है। एक जुलाई से दिल्ली में घरेलू इस्तेमाल का सिलेंडर 637 रुपये में उपलब्ध होगा। तेल कंपनियों ने यह जानकारी दी है।

बिना सब्सिडी वाले घरेलू सिलेंडर के बाजार मूल्य में कमी आने के साथ ही सब्सिडीयुक्त घरेलू सिलेंडर के लिये भी रिफिल लेते समय 100.50 रुपये कम देने होंगे। सब्सिडीयुक्त सिलेंडर के घरेलू उपभोक्ताओं को एक जुलाई से रिफिल प्राप्त होने पर 737.50 रुपये के बजाय 637 रुपये का भुगतान करना होगा। 

बीमा कंपनियों को बताना होगा पॉलिसी स्टेटस

इरडा का आदेश लागू होने के बाद सभी बीमा कंपनियों के लिए पॉलिसीधारकों को बीमा की स्थिति के बारे में एसएमएस के जरिये अपडेट देना अनिवार्य हो जाएगा। पॉलिसीधारक को क्लेम की प्रक्रिया और अन्य संदेशों की नियमित जानकारी मिलेगी, ताकि नवीनीकरण या दावे के निपटारे में परेशानी न आए। 

निवेशक यूपीआई से कर सकेंगे भुगतान

सेबी एक जुलाई से छोटे निवेशकों को यूपीआई के जरिये भुगतान करने की सुविधा देगा। भविष्य में इस प्रणाली के जरिये शेयरों की खरीद-फरोख्त पूरी तरह चालू हो जाएगी।