Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस मुकेश अंबानी ने कहा तीसरा सबसे...

मुकेश अंबानी ने कहा तीसरा सबसे धनी देश बनने जा रहा है भारत, चौथी औद्योगिक क्रांति का नेतृत्‍व करेगा देश

श के सबसे अमीर व्यक्ति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने मंगलवार को कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे धनी देश बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 30 Oct 2018, 14:09:35 IST

नई दिल्ली। देश के सबसे अमीर व्‍यक्ति और रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने मंगलवार को कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे धनी देश बनने की राह पर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि पहली तीन औद्योगिक क्रांतियों से चूक जाने के बाद भारत प्रौद्योगिकी पसंद युवा आबादी की दम पर अब चौथी औद्योगिक क्रांति की अगुवाई करने की स्थिति में है। 

अंबानी ने 24वें मोबीकैम सम्मेलन को संबोधित करते हुए यहां कहा कि भारत का डिजिटल बदलाव अतुल्य और अप्रत्याशित है। उन्होंने कहा कि देश ने वायरलेस ब्रॉडबैंड के मामले में महज 24 महीने में 155वें स्थान से शीर्ष तक का सफर तय किया है। अंबानी ने याद दिलाया कि 1990 के दशक में जब रिलायंस तेल परिशोधन तथा पेट्रोरसायन परियोजनाएं बना रही थी, भारत का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) करीब 350 अरब डॉलर था और देश बेहद गंभीर आर्थिक संकट से बाहर निकला ही था। 

उन्होंने कहा कि बहुत कम लोगों ने सोचा होगा कि हमारे देश की संभावनाएं इतनी उज्ज्वल हैं। आज हमारी जीडीपी करीब तीन हजार अरब डॉलर की हो गई है और हम विश्व के तीसरे सबसे अमीर देश बनने की राह पर हैं। अंबानी ने कहा कि मोबाइल कम्‍प्यूटिंग वृहद स्तर पर डेटा की खपत के लिए उत्प्रेरक है और इसने युवा भारतीयों को व्यापक बदलाव वाली सोच के लिए उर्वर जमीन दी है। उन्होंने कहा कि मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि अगले दो दशक में भारत विश्व की अगुवाई करेगा और वैश्विक आर्थिक वृद्धि के अगले दौर में योगदान देगा।

अंबानी ने कहा कि कोयला एवं वाष्प तथा विद्युत एवं तेल पर आधारित क्रमश: पहली व दूसरी औद्योगिक क्रांतियों में भारत हाशिये पर रहा। कम्‍प्यूटर केंद्रित तीसरी क्रांति में भारत ने दौड़ में भाग लेना शुरू किया। 

उन्होंने कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति अब हमारे ऊपर है। इसे ऐसी प्रौद्योगिकियों के कारण पहचाना जा रहा है, जिसने भौतिक, डिजिटल और जीव-वैज्ञानिक विश्व को दोफाड़ कर दिया है। मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि भारत के पास न सिर्फ चौथी क्रांति में भाग लेने का मौका है बल्कि देश इसकी अगुवाई कर सकता है।  

अंबानी ने कहा कि ऐसा इस कारण संभव है क्योंकि आज का भारत पहले के भारत से बिलकुल अलग है। भारत की बड़ी प्रौद्योगिकी केंद्रित आबादी इसकी मुख्य ताकत है। उन्होंने कहा कि बराबरी तथा समावेशी विकास आधारित एक लोकतंत्र होने के नाते भारत भविष्य की प्रौद्योगिकियों को खुले दिमाग से स्वीकार कर रहा है।

More From Business