Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस मानसून ने केरल के तट पर...

मानसून ने केरल के तट पर दी अपनी दस्तक, 2-3 दिन में कर्नाटक पहुंचेगा: Skymet Weather

मानसून को लेकर अच्छी खबर है, मौसम का आकलन करने वाली निजी संस्था स्काइमेट का मानना है मानसून के केरल के तट पर पहुंचने के लिए जो पैमाना रखा गया है उसके मुताबिक मानसून ने केरल में आज अपनी दस्तक दे दी है। स्काइमेट वेदर के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने इंडिया टीवी को बताया कि मानसून को लेकर परिस्थियां अनुकूल हैं और इसके आगे तेजी से बढ़ने का अनुमान है, हालांकि उन्होंने बताया कि मानसून के पहुंचने की आधिकारिक घोषणा मौसम विभाग ही करेगा और उम्मीद है कि आज मौसम विभाग यह घोषणा कर सकता है।

Manoj Kumar
Manoj Kumar 28 May 2018, 16:46:07 IST

नई दिल्ली। मानसून को लेकर अच्छी खबर है, मौसम का आकलन करने वाली निजी संस्था स्काइमेट का मानना है मानसून के केरल के तट पर पहुंचने के लिए जो पैमाना रखा गया है उसके मुताबिक मानसून ने केरल में आज अपनी दस्तक दे दी है। स्काइमेट वेदर के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने इंडिया टीवी को बताया कि मानसून को लेकर परिस्थियां अनुकूल हैं और इसके आगे तेजी से बढ़ने का अनुमान है, हालांकि उन्होंने बताया कि मानसून के पहुंचने की आधिकारिक घोषणा मौसम विभाग ही करेगा और उम्मीद है कि आज मौसम विभाग यह  घोषणा कर सकता है।

महेश पलावत के मुताबिक केरल में कई जगहों पर बरसात हो रही है जो मानसून के लिए अच्छा संकेत है। स्काइमेट वेदर ने अपने अनुमान में कहा था कि 28 मई को मानसून केरल के तट पर पहुंच जाएगा जबकि मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक मानसून 29 मई को केरल के तट पर पहुंचेगा।

मानसून के पहुंचने की घोषणा मौसम विभाग ही करता है और घोषणा करने से पहले कुछ पैमानों पर नजर डालता है, मौसम अगर तय पैमानों के मुताबिक रहता है तभी मानसून पहुंचने की घोषणा की जाती है। मौसम विभाग ने केरल और तमिलनाडू में 14 ऐसी जगह चिन्हिंत की है जिनमें से 60 प्रतिशत जगहों पर 10 मई के बाद लगातार दो दिन रोजाना 2.5 मिलीमीटर बरसात होती है तो मानसून पहुंचने की घोषणा की जाती है। यह जगह हैं तिरुवनंतपुरम, पूनालुर, कोलम, अलापुज्जा, कोटयम, कोच्चि, त्रिशुर, मिनिकॉय, अमिनी, कोजिकोड, थालासेरी, कन्नुर, कुडुलू और मंगलोर।

इन 14 जगहों में से 60 प्रतिशत जगहों पर लगातार 2 दिन के लिए 2.5 मिलीमीटर बरसात होना जरूरी है तभी मानसून के पहुंचने की घोषणा होगी। इसके अलावा पश्चिमी हवाओं का चलना भी जरूरी है। महेश पलावत का मानना है मौसम मानसून के इस पैमाने को पूरा कर चुका है जिसका मतलब है कि उसने केरल के तट पर दस्तक दे दी है।

मौसम विभाग के मुताबिक 28 मई को केरल और लक्ष्यद्वीप में कुछेक जगहों पर भारी से बहुत भारी बरसात होने की चेतावनी है, इसके अलावा तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के कुछेक हिस्सों में भी भारी बरसात की चेतावनी है। 29 मई मंगलवार को भी इन इलाकों में इसी तरह का मौसम रहने की चेतावनी जारी की गई है।

मौसम विभाग ने इस साल मानसून सीजन के दौरान सामान्य बरसात का अनुमान जारी किया है, मौसम विभाग के मुताबिक इस साल मानसून सीजन के दौरान 42 प्रतिशत संभावना 94-104 प्रतिशत बरसात की है, 12 प्रतिशत संभावना 104-110 प्रतिशत बरसात की है, 30 प्रतिशत संभावना 90-96 प्रतिशत बरसात की है और सूखा पड़ने की संभावना 14 प्रतिशत तथा अध्याधिक बरसात की संभावना 2 प्रतिशत है।