Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस सितंबर में घटी मारुति की पैसेंजर...

सितंबर में घटी मारुति की पैसेंजर कारों की बिक्री, अल्‍टो-वैगनआर की सेल 9% की गिरावट

देश की सबसे बड़ी पैसेंजर कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की बिक्री सितंबर में घट गई है। कंपनी ने बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज को जारी किए गए आकंड़ों में बताया है कि कंपनी की पैसेंजर कार बिक्री में 1.4 फीसदी की गिरावट आई है।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 01 Oct 2018, 10:37:17 IST

नई दिल्‍ली। देश की सबसे बड़ी पैसेंजर कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी की बिक्री सितंबर में घट गई है। कंपनी ने बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज को जारी किए गए आकंड़ों में बताया है कि कंपनी की पैसेंजर कार बिक्री में 1.4 फीसदी की गिरावट आई है। सितंबर के आंकड़ों पर नज़र डालें तो सबसे ज्‍यादा गिरावट मिडसाइज सेडान सियाज की बिक्री में दिखाई दी है। सियाज कारों की बिक्री 11.5 प्रतिशत घटी है। वहीं मारुति की बेस्‍ट सेलिंग एंट्री सेगमेंट कार अल्‍टो और वैगनआर की बिक्री में 9.1 फीसदी की गिरावट आई है। हालांकि कंपनी की कुल घरेलू बिक्री में 1.4 फीसदी का मामूली सुधार देखा गया है।

घरेलू बिक्री और निर्यात को शामिल कर मारुति सुजुकी की कुल कारों की बिक्री का आंकड़ा 162290 रहा जो कि पिछले साल के मुकाबले 1.4 प्रतिशत कम है। कंपनी ने इस महीने 153550 कारें घरेलू बाजार में बेची और 8740 कारों का निर्यात किया। वहीं पैसेंजर कारों की बिक्री की बात करें तो कंपनी ने इस महीने 115,228 कारें बेचीं, वहीं पिछले साल यही आंकड़ा 116,886 कारों का था।

घटी अल्‍टो-वैगनआर की सेल

बिक्री आंकड़ों के मुताबिक अल्‍टो और वैगनआर की बिक्री सितंबर के दौरान 9.1 फीसदी घटी है। कंपनी ने पिछले महीने 34,971 अल्‍टो एवं वैगनआर कारें बेचीं। वहीं पिछले साल यही आंकड़ा 38,479 कार था। इसके अलावा स्विफ्ट, बलेना, इग्निस, सेलेरिया और सियाज वाले कॉम्‍पेक्‍ट सेगमेंट की बिक्री में 1.7 प्रतिशत का उछाल दिखा। कंपनी ने सितंबर में इस सेगमेंट की 74,011 कारें बेचीं। वहीं पिछले साल यही आंकड़ा 72,804 कारों का था।

एसक्रॉस-विटारा ब्रेजा की बढ़ी सेल

कंपनी के एसयूवी सेगमेंट में आने वाली एसक्रॉस और विटारा ब्रेजा की बिक्री की बात करें तो यहां पर 8.7 फीसदी की तेजी दिखाई दे रही है। कंपनी ने सितंबर में इस सेगमेंट की 21,639 कारें बेची। वहीं पिछले साल यही आंकड़ा 19,900 कारों का था।

More From Business