Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. 4 Years of Modi: राष्ट्रीय राजमार्गों...

4 Years of Modi: राष्ट्रीय राजमार्गों के मामले में मनमोहन के 10 साल पर मोदी के 3 साल हावी

पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को केंद्र की सत्ता संभाले हुए 4 साल हुए हैं, ऐसे में 4 साल पूरे होने के मौके पर सरकार के किए गए कामों का हिसाब लगाया जा रहा है। इसी कड़ी में इंडिया टीवी भी अलग-अलग क्षेत्र में हुए कामों की समीक्षा कर रहा है। आज हाम बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में राष्ट्रीय राजमार्गों के हुए निर्माण के बारे में और इसके लिए हमने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से जारी आंकड़ों को आधार बनाया है

Manoj Kumar
Reported by: Manoj Kumar 03 Jun 2018, 13:24:39 IST

नई दिल्ली। पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को केंद्र की सत्ता संभाले हुए 4 साल हुए हैं, ऐसे में 4 साल पूरे होने के मौके पर सरकार के किए गए कामों का हिसाब लगाया जा रहा है। इसी कड़ी में इंडिया टीवी भी अलग-अलग क्षेत्र में हुए कामों की समीक्षा कर रहा है। आज हाम बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में राष्ट्रीय राजमार्गों के हुए निर्माण के बारे में और इसके लिए हमने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से जारी आंकड़ों को आधार बनाया है।

RBI के आंकड़ों से राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई के बारे में जो जानकारी निकलकर सामने आई है उसके मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के 2 कार्यकाल यानि 2004 से 2014 में राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई में जितनी बढ़ोतरी हुई है उससे ज्यादा बढ़ोतरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 3 साल के कार्यकाल में देखने को मिली है।

2003-04 से लेकर 2013-14 तक बने 21001 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग

RBI के आंकड़ों के मुताबिक 2003-04 के अंत में देश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लंबाई 58115 किलोमीटर थी, मई 2004 में ही मनमोहन सिंह पहली बार प्रधानमंत्री बने थे। मनमोहन सिंह का पहला कार्यकाल मई 2009 में पूरा हुआ था और RBI के आंकड़ों के मुताबिक 2008-09 के अंत में राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई बढ़कर 66754 किलोमीटर पहुंची थी, यानि लगभग 5 साल में 8639 किलोमीटर की बढ़ोतरी हुई थी। इसके बाद मई 2009 से मनमोहन सिंह का दूसरा कार्यकाल शुरू हुआ था और यह मई 2014 तक चला। RBI आंकड़ों के मुताबिक 2013-14 के अंत में देश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लंबाई बढ़कर 79116 किलोमीटर हुई थी। यानि मनमोहन सिंह के दूसरे कार्यकाल में लंबाई 12362 किलोमीटर बढ़ी और दो कार्यकाल मिलाकर कुल लगभग 21000 किलोमीटर बढ़ोतरी हुई।

2013-14 से 2016-17 में बने 21895 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग

वहीं 2013-14 के बाद राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई में हुई बढ़ोतरी को देखें तो उनमें तेजी से बढ़ोतरी हुई है। RBI के आंकड़ों के मुताबिक 2016-17 के अंत तक देश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लंबाई बढ़कर 1,01,011 किलोमीटर हो गई है। प्रधानमंत्री मोदी ने 2013-14 के बाद मई 2014 में कार्यभार संभाला है और उनके 3 साल के कार्यकाल में राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिली है। 2013-14 से लेकर 2016-17 तक राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई में 21895 किलोमीटर का इजाफा हुआ है।

सबसे ज्यादा राष्ट्रीय राजमार्ग वाले 5 राज्य

देश में सबसे ज्यादा राष्ट्रीय राजमार्ग उत्तर प्रदेश में हैं, दूसरे नंबर पर राजस्थान, तीसरे पर महाराष्ट्र, चौथे पर आंध्र प्रदेश और पांचवें नंबर पर मध्य प्रदेश है। RBI के आंकड़ों के मुताबिक 2016-17 के अंत तक उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई 8483 किलोमीटर, राजस्थान में 7906 किलोमीटर, महाराष्ट्र में 7435 किलोमीटर, आंध्र प्रदेश में 5465 किलोमीटर और मध्य प्रदेश में 5194 किलोमीटर दर्ज की गई है।

Web Title: 4 Years of Modi: राष्ट्रीय राजमार्गों के मामले में मनमोहन के 10 साल पर मोदी के 3 साल हावी