Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. जियो यूजर्स को मिलेगा ओपन सोर्स...

जियो यूजर्स को मिलेगा ओपन सोर्स टेक्‍नोलॉजी का फायदा, 2020 तक 4 अरब डॉलर का हो जाएगा क्‍लाउड बाजार

रिलायंस जियो इंफोकॉम के डायरेक्‍टर आकाश अंबानी ने कहा कि देश में सार्वजनिक क्लाउड बाजार का आकार वर्ष 2020 तक 53 प्रतिशत बढ़कर चार अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा।

Abhishek Shrivastava
Edited by: Abhishek Shrivastava 20 Jan 2018, 13:03:29 IST

मुंबई। रिलायंस जियो इंफोकॉम के डायरेक्‍टर आकाश अंबानी ने कहा कि देश में सार्वजनिक क्लाउड बाजार का आकार वर्ष 2020 तक 53 प्रतिशत बढ़कर चार अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा। आकाश ने कहा कि 2017 का साल ब्लॉकचेन और डिजिटल करेंसी का रहा। साल के दौरान बिटकॉइन काफी चर्चा में रहा।  उन्होंने कहा कि जियो ग्राहकों का अनुभव बेहतर करने के लिए ओपन सोर्स टेक्‍नोलॉजी में योगदान और इस्तेमाल के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। 

भारत के बारे में उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था का लगातार डिजिटलीकरण हो रहा है, जिससे क्लाउड बाजार तेजी से बढ़ेगा। उन्‍होंने ओपन सोर्स, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, ब्लॉकचेन ओर ओपनस्टैक पर अपने विचार रखे। आकाश ने कहा कि भारत का सार्वजनिक क्लाउड बाजार 2018 में 2.6 अरब डॉलर पर पहुंच जाएगा, जबकि 2020 तक यह चार अरब डॉलर पर होगा। गार्टनर इंक के मुताबिक 2017 में भारत में सार्वजनिक क्लाउड सेवाओं का बाजार 1.81 अरब डॉलर का है। 

सार्वजनिक क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड कम्‍प्यूटिंग टेक्‍नोलॉजी का इस्तेमाल कर उन ग्राहकों को समर्थन दिया जाता है तो प्रदाता संगठन से बाहर के हैं।  आकाश ने कहा कि ओपन सोर्स कंपनी के लिए काफी महत्वपूर्ण है, इसलिए ओएनएपी सहित कई परियोजनाओं में भागीदारी कर रही है। ओपन नेटवर्क ऑटोमेशन प्लेटफॉर्म (ओएनएपी) एक ओपन सोर्स नेटवर्किंग ऑटोमेशन मानक है, जो भविष्य के नेटवर्क के काम में क्रांतिकारी बदलाव ला रहा है।  उन्होंने कहा कि आर्टिफिशल इंटेलिजेंस सभी के लिए मुख्यधारा बन रहा है। 

उन्होंने कहा कि ओपन स्टैक दुनिया का सबसे बड़ी पूर्ण ओपन सोर्स क्लाउड परियोजना है। इसका अधिक से अधिक परियोजनाओं व उपक्रमों में इस्तेमाल हो रहा है। यह रिलायंस जियो सहित सार्वजनिक और निजी क्लाउड के डेटा सेंटरों का परिचालन कर रहा है। 

Web Title: जियो यूजर्स को मिलेगा ओपन सोर्स टेक्‍नोलॉजी का फायदा, 2020 तक 4 अरब डॉलर का हो जाएगा क्‍लाउड बाजार