Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस ADB ने भी लगा दी मुहर,...

ADB ने भी लगा दी मुहर, दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा भारत

एशियाई विकास बैंक (ADB) ने गुरुवार को कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा। एडीबी ने कहा कि 2018-19 और 2019- 20 में चीन को पीछे छोड़कर भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 19 Jul 2018, 20:14:37 IST

नई दिल्ली। एशियाई विकास बैंक (ADB) ने गुरुवार को कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा। एडीबी ने कहा कि 2018-19 और 2019- 20 में चीन को पीछे छोड़कर भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना रहेगा। एडीबी के मुताबिक भारत की वृद्धि दर 2018- 19 में 7.3 प्रतिशत और 2019- 20 में 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान है। इसके साथ ही भारत चीन को पीछे छोड़ते हुये सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बना रहेगा।

एडीबी ने एशियाई विकास परिदृश्य (एडीओ) के परिशिष्ट में कहा है कि भारत में सार्वजनिक खर्च बढ़ने, क्षमता के बेहतर इस्तेमाल और निजी निवेश बढ़ने से वृद्धि को गति मिलेगी।

चालू और अगले वित्त वर्ष के लिए भारत के वृद्धि दर के अनुमान को कायम रखते हुए एडीओ में कहा गया है कि 2018 में चीन में वृद्धि दर घटकर 6.6 प्रतिशत पर आ जाएगी तथा 2019 में यह और घटकर 6.4 प्रतिशत रहेगी। वर्ष 2017 में चीन की वृद्धि दर 6.9 प्रतिशत थी।

भारत के बारे में एडीबी ने कहा कि चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को 7.3 प्रतिशत पर कायम रखा गया है। अगले वित्त वर्ष में यह बढ़कर 7.6 प्रतिशत हो जाएगी।

एडीबी ने कहा कि भारत दक्षिण एशिया उपक्षेत्र की सबसे अधिक दबदबे वाली अर्थव्यवस्था है। 2017-18 की आखिरी तिमाही में भारत की वृद्धि दर रफ्तार पकड़कर 7.7 प्रतिशत पर पहुंच गई, जो 2016-17 की पहली तिमाही के बाद सबसे ऊंची दर है। इससे पूरे वित्त वर्ष 2017-18 में वृद्धि दर 6.7 प्रतिशत रही।

एडीबी की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की अगुवाई में दक्षिण एशिया सबसे तेजी से बढ़ता आर्थिक क्षेत्र रहेगा। हालांकि, एशिया प्रशांत क्षेत्र में व्यापार को लेकर नया तनाव पैदा हुआ है, लेकिन इसके बावजूद दक्षिण एशियाई क्षेत्र की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ेगी। एशियाई विकास बैंक (एडीबी) की एक नई रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है।

एशियाई विकास परिदृश्य के एक परिशिष्ट में कहा गया है कि एशिया और प्रशांत के विकासशील देशों की वृद्धि 2018 और 2019 में मजबूत रहेगी। हालांकि, अमेरिका का अपने व्यापारिक भागीदारों के साथ तनाव बढ़ रहा है।

More From Business