Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. Shocking: Facebook, Google और WhatsApp से...

Shocking: Facebook, Google और WhatsApp से चोरी होती है आपकी पर्सनल डिटेल, Avast का खुलासा

सायबर सिक्‍यूरिटी कंपनी ने दावा किया है कि Google, WhatsApp और Facebook अपने यूजर्स की जानकारियां चुराते हैं।

Abhishek Shrivastava
Abhishek Shrivastava 29 Oct 2015, 15:35:14 IST

नई दिल्‍ली। क्‍या आपको पता है Google, WhatsApp और Facebook अपने यूजर्स की पर्सनल जानकारी चुराते हैं। सायबर सिक्‍यूरिटी कंपनी Avast ने अपनी एक ताजा रिपोर्ट में दावा किया है कि यह कंपनियां अपने यूजर्स की जानकारियों को चुराकर उनकी रुचि का पता लगाते हैं और उन तक लक्षित विज्ञापन पहुंचाते हैं। Avast ने यह भी कहा है कि इन कंपनियों के यूजर्स को इसके बारे में पता होता है।

Avast के सीईओ विनसेंट स्‍टेकलर ने बताया कि गूगल एक एडवर्टाइजिंग कंपनी है। गूगल का रेवेन्‍यू विज्ञापन से ही आता है। यूजर्स की जासूसी कर उनकी रुचि का पता लगाकर उनतक उनकी पसंद का विज्ञापन पहुंचाना ही गूगल का बिजनेस मॉडल है। उन्‍होंने यह भी कहा कि वह इसे गलत नहीं मानते, क्‍योंकि यूजर्स को पता होता है कि क्‍या चल रहा है। Strategy – अब फेसबुक ब्रेकिंग न्यूज के लिए भी करेगा ‘Notify’, Video प्लेटफॉर्म बनाने की भी तैयारी

स्‍टेकलर ने यह भी कहा कि व्‍हाट्सऐप भी अपने यूजर्स के प्राइवेट डाटा को चोरी करता है। सभी लोग अपने दोस्‍तों और साथियों के साथ अपनी व्‍यक्तिगत और निजी जानकारी फेसबुक के जरिये शेयर करते हैं। इसलिए फेसबुक भी इस जानकारी को चुराकर अपने लिए इस्‍तेमाल करता है। स्‍टेकलर ने बताया कि व्‍हाट्सऐप एक डाटा कलेक्‍टर है, जिसके आधार पर ही फेसबुक आपको विज्ञापन दिखाता है। व्‍हाट्सऐप पर आप जो बातचीत करते हैं उसके आधार पर फेसबुक आपकी रुचि का अंदाजा लगाकर आपको विज्ञापन परोसता है।

ऐप भी करते हैं गोपनीयता भंग

स्‍टेकलर ने कहा कि यूजर्स भी अपने मोबाइल फोन में एप्‍लीकेशन का उपयोग कर कॉन्‍टैक्‍ट डिटेल्‍स शेयर कर खुद गोपनीयता को भंग करते हैं। उन्‍होंने कहा कि व्‍हाट्सऐप उपयोग करते समय आप अपने सभी कॉन्‍टैक्‍ट डाटाबेस शेयर कर देते हैं। इससे आपके सभी दोस्‍तों और साथियों के कॉन्‍टैक्‍स डिटेल्‍स फेसबुक को ऑटोमैटिक मिल जाते हैं। Avast ने सितंबर में एंड्रॉइड पर चलने वाले टॉप 100 ऐप का विश्‍लेषण किया। इसके मुताबिक इनमें से 99 फीसदी ऐप का पूरे मोबाइल फोन पर नियंत्रण है, जिसका मतलब है कि वह आपके फोन को रिमोट से ऑपरेट कर सकते हैं। 92 फीसदी ऐप आपके नेटवर्क कनेक्‍शन को देख सकते हैं। 10 में से एक ऐप ऑडियो रिकॉर्ड कर सकते हैं और पिक्‍चर व वीडियो ले सकते हैं। 10 में से 9 ऐप स्‍टोरेज कंटेंट पढ़ सकते हैं और उसे संशोधित या डिलीट कर सकते हैं।

Web Title: Google, WhatsApp और Facebook करते हैं यूजर्स की जासूसी