Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. 5 करोड़ लोग गरीबी से बाहर...

5 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले, स्‍वच्‍छ भारत अभियान से 3 लाख बच्‍चों का जीवन हुआ सुरक्षित

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को यह दावा किया कि एनडीए के 4 साल के कार्यकाल के दौरान 5 करोड़ गरीब लोग गरीबी रेखा से बाहर निकल आए हैं और स्‍वच्‍छ भारत अभियान के जरिये 3 लाख बच्‍चों के जीवन को सुरक्षित बनाया गया है।

India TV Paisa Desk
Written by: India TV Paisa Desk 28 Aug 2018, 20:52:19 IST

नई दिल्‍ली। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को यह दावा किया कि एनडीए के 4 साल के कार्यकाल के दौरान 5 करोड़ गरीब लोग गरीबी रेखा से बाहर निकल आए हैं और स्‍वच्‍छ भारत अभियान के जरिये 3 लाख बच्‍चों के जीवन को सुरक्षित बनाया गया है।

उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी जिले के भाजपा कार्यकर्ताओं से नरेंद्र मोदी एप के जरिये बात करते हुए उन्‍होंने कहा कि सरकार लाइन में खड़े अंतिम व्‍यक्ति को देश में मुख्‍यधारा के विकास में शामिल करने के लिए दृढ़ संकल्पित है।

मोदी ने कहा कि पिछले चार सालों में, 5 करोड़ गरीब गरीबी से बाहर निकल चुके हैं। उन्‍होंने कहा कि अब आम नागरिक हमारी उड़ान योजना के तहत हवा में उड़ सकता है। एनडीए सरकार ने आजादी के बाद 70 सालें में बने कुल शौचालयों से अधिक का निर्माण केवल चार सालों में किया है।

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की रिपोर्ट का हवाला देते हुए प्रधान मंत्री ने कहा‍ कि स्‍वच्‍छ भारत अभियान को चलाने के जरिये तीन लाख बच्‍चों के जीवन को बचाया गया है। उन्‍होंने कहा कि हमारा देश अब तेजी से आगे बढ़ रहा है।

वाराणसी में 21 से 23 जनवरी को आयोजित होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस के बारे में बोलते हुए उन्‍होंने शहरवासियों से अपील की कि वह इस पवित्र शहर काशी की आध्‍यात्मिकता और भारतीय संस्‍कृति की झलक प्रवासियों के सामने पेश करें। इस कार्यक्रम को सफल बनाने और काशी को विश्‍व पहचान दिलाने के लिए, प्रत्‍येक नागरिक को योगदान देना चाहिए।  

मोदी और मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनाथ इस कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे, जिसमें दुनियाभर के प्रवासी भारतीय भाग लेंगे। मोदी ने सभी से स्‍वच्‍छता ही सेवा अभियान को सफल बनाने की भी अपील की।

Web Title: Five crore people came out of poverty: PM Modi | 5 करोड़ लोग गरीबी से बाहर निकले, स्‍वच्‍छ भारत अभियान से 3 लाख बच्‍चों का जीवन हुआ सुरक्षित