Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. फ्लिपकार्ट में अपनी 1.1 अरब डॉलर...

फ्लिपकार्ट में अपनी 1.1 अरब डॉलर की हिस्सेदारी बेचेगी ईबे, मजबूत करेगी अपना ईकॉमर्स कारोबार

अमेरिकी इकामर्स कंपनी ईबे ने आज कहा कि उसकी फ्लिपकार्ट में अपनी हिस्सेदारी लगभग 1.1 अरब डालर में बेचने की योजना है। कंपनी का कहना है कि वह अपने पोर्टल ईबे इंडिया को फिर शुरू करेगी जो कि शुरू में सीमापारीय व्यापार अवसरों पर केंद्रित होगी।

India TV Paisa Desk
Written by: India TV Paisa Desk 10 May 2018, 9:52:56 IST

नई दिल्ली। अमेरिकी इकामर्स कंपनी ईबे ने आज कहा कि उसकी फ्लिपकार्ट में अपनी हिस्सेदारी लगभग 1.1 अरब डालर में बेचने की योजना है। कंपनी का कहना है कि वह अपने पोर्टल ईबे इंडिया को फिर शुरू करेगी जो कि शुरू में सीमापारीय व्यापार अवसरों पर केंद्रित होगी। ईबे ने एक बयान में यह जानकारी दी है। यह बयान ऐसे समय में आया है जबकि वालमार्ट ने फ्लिपकार्ट में 77 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए 16 अरब डालर का सौदा किया है। कंपनी का कहना है कि उसने इस बारे में फ्लिपकार्ट व वालमार्ट को सूचित कर दिया है। 

यह भी पढ़ें:  Walmart ने जिस साल भारत में पहला स्टोर खोला, उसी साल Flipkart का जन्म हुआ, जानिए इनके बारे में रोचक बातें

इससे पहले कल हुई एक एतिहासिक डील में वॉलमार्ट ने फ्लिपकार्ट की 77 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीदने की घोषणा की। Walmart ने कहा है कि वह Flipkart में 77  प्रतिशत हिस्सेदारी खरीद रहा है और इसके लिए 16 अरब डॉलर यानि लगभग 1.07 लाख करोड़ रुपए की कीमत चुकाएगा। खबर के मुताबिक Flipkart के सह संस्थापक सचिन बंसल अपनी पूरी 5.5 प्रतिशत हिस्सेदारी भी बेच रहे हैं।

यह भी पढ़ेंWalmart का ऐलान, Flipkart में 77% हिस्सा खरीदने के लिए देगा 1.07 लाख करोड़

इस सौदे में 11 साल पुरानी फ्पिपकार्ट का कुल मूल्य 20.8 अरब डॉलर आंका गया है, वॉलमार्ट में जारी बयान में कहा है कि वह फ्लिपकार्ट की 77 प्रतिशत हिस्सदारी खरीदेगी, इस डील के बाद फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक सचिन बंसल कंपनी छोड़ देंगे, उन्होंने साल 2007 में बिन्नी बंसल के साथ मिलकर 2007 में कंपनी की स्थापनी की थी। सचिन और बिन्नी बंसल पहले अमेरिकी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन के लिए काम करते थे, उन्होंने किताबें बेचने के साथ 2007 में फ्लिपकार्ट की शुरुआत की थी।

Web Title: फ्लिपकार्ट में अपनी 1.1 अरब डॉलर की हिस्सेदारी बेचेगी ईबे, मजबूत करेगी अपना ईकॉमर्स कारोबार