Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. DRI ने 2017-18 में पकड़ा 974...

DRI ने 2017-18 में पकड़ा 974 करोड़ रुपए का 3,223 किलो सोना, तस्‍करी कर लाया जा रहा था देश में

डीआरआई की रिपोर्ट के मुताबिक देश के घरेलू स्वर्ण बाजार में तस्करी के जरिये आए सोने की हिस्सेदारी बहुत अधिक है।

India TV Paisa Desk
Edited by: India TV Paisa Desk 06 Dec 2018, 20:37:46 IST

नई दिल्ली। सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान 974 करोड़ रुपए मूल्य का 3,223 किलोग्राम सोना जब्त किया है। यह आंकड़ा इससे पूर्व के वित्त वर्ष की तुलना में दोगुना से भी अधिक है। राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) की रिपोर्ट के मुताबिक देश के घरेलू स्वर्ण बाजार में तस्करी के जरिये आए सोने की हिस्सेदारी बहुत अधिक है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सोने की तस्करी का संगठित अपराध और दुनियाभर के अपराधियों के गठजोड़ से गहरा नाता है।

1 साल में 103 प्रतिशत की वृद्धि

वित्त वर्ष 2017-18 में भारतीय सीमा शुल्क विभाग ने 974 करोड़ रुपए मूल्य का 3,223 किलोग्राम सोना जब्त किया, जो उससे पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 103 प्रतिशत की वृद्धि दिखाता है। वित्त वर्ष 2016-17 में 472 करोड़ रुपए मूल्य का 1,422 किलोग्राम सोना जब्त किया गया था।

चार महानगरों से हुई सबसे ज्‍यादा जब्‍ती

डीआरआई की भारत में तस्करी रिपोर्ट 2017-18 में कहा गया है कि अधिकतर जब्ती कोलकाता, मुंबई, चेन्नई और दिल्ली से हुई है। इसके साथ ही 2017- 18 में थोक नकदी की तस्करी भी तेजी से बढ़ी है। इस दौरान सीमा शुल्क विभाग ने दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई और अहमदाबाद हवाईअड्डों से 89 करोड़ रुपए की विदेशी मुद्रा जब्त की है। 

नशीले पदार्थों की भी बढ़ी तस्‍करी

रिपोर्ट के अनुसार वर्ष के दौरान नशीले पदार्थों की जब्ती भी बढ़ी है। वर्ष 2016-17 में ऐसे पदार्थों की जहां 64 जब्ती हुई वहीं 2017- 18 में यह संख्या बढ़कर 78 पर पहुंच गई। डीआरआई ने 2016- 17 में 16,197 किलो गांजा बरामद किया, जो कि 2017- 18 में बढ़कर 26,785 किलो रहा। इसके अलावा नकली भारतीय मुद्रा और नकली सामान भी काफी मात्रा में जब्त किया गया। तस्करी के जरिये लाई जाने वाली सिगरेट भी बड़ी मात्रा में पकड़ी गई। 

Web Title: DRI seized 3,223 kg gold worth Rs 974 cr in FY'18 | DRI ने 2017-18 में पकड़ा 974 करोड़ रुपए का 3,223 किलो सोना, तस्‍करी के जरिये लाया जा रहा था देश में