Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष...

वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्‍य के पार, मार्च में GST संग्रह 89,264 करोड़ रुपए रहा

वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह निर्धारित लक्ष्यों को पार कर गया है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि इस दौरान रिकॉर्ड 6.84 करोड़ आयकर रिटर्न दाखिल किए गए।

Manish Mishra
Edited by: Manish Mishra 02 Apr 2018, 18:31:37 IST

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह निर्धारित लक्ष्यों को पार कर गया है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि इस दौरान रिकॉर्ड 6.84 करोड़ आयकर रिटर्न दाखिल किए गए। पिछले वित्त वर्ष के दौरान कुल प्रत्यक्ष कर संग्रह 9.95 लाख करोड़ रुपए रहा जो संशोधित बजट अनुमान से 9.80 लाख करोड़ रुपए से अधिक है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के अध्यक्ष ने कहा कि समीक्षाधीन वित्त वर्ष के दौरान 6.84 करोड़ आयकर रिटर्न दायर किए गए। वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान 5.43 करोड़ आयकर रिटर्न दायर हुए थे। इस दौरान कर दायरे में 99.5 लाख नए करदाता जुड़े।

वित्‍त सचिव हसमुख अधिया ने कहा कि मार्च में GST संग्रह 89,264 करोड़ रुपए रहा। उन्‍होंने कहा कि GST में अब तक 17,616 करोड़ रुपए का रिफंड किया गया है। वित्‍त सचिव ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक यानी ई-वे बिल सफलतापूर्वक शुरू हो गया है। इसमें अभी तक कोई दिक्कत सामने नहीं आई है। राज्य के भीतर माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल शुरू करने की घोषणा जल्द की जाएगी।

आपको बता दें कि कर्नाटक एकमात्र ऐसा राज्‍य रहा जिसने अंतरराज्‍यीय के अलावा राज्‍य के भीतर भी माल ढुलाई के लिए ई-वे बिल को 1 अप्रैल से लागू कर दिया है।

Web Title: वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रत्यक्ष कर संग्रह लक्ष्‍य के पार, मार्च में GST संग्रह 89,264 करोड़ रुपए रहा