Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. केंद्र ने राज्‍यों से सभी दालों...

केंद्र ने राज्‍यों से सभी दालों के लिए भंडारण सीमा तय करने को कहा

दालों के दामों में एक बार फिर तेजी आती दिख रही है। केंद्र ने राज्‍यों से जमाखोरी रोकने को व्यापारियों के लिए सभी दालों के भंडारण की सीमा तय करने को कहा है।

Abhishek Shrivastava
Abhishek Shrivastava 27 Apr 2016, 15:56:42 IST

नई दिल्‍ली। आपूर्ति की कमी की वजह से दालों के दामों में एक बार फिर तेजी आती दिख रही है। ऐसे में केंद्र ने राज्‍यों से जमाखोरी रोकने को व्यापारियों के लिए सभी दालों के भंडारण की सीमा तय करने को कहा है। खाद्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश तथा तेलंगाना ने कुछ दालों के लिए भंडारण की सीमा तय की है। हमने उनसे जमाखोरी तथा मूल्‍यों पर नियंत्रण के लिए भंडारण की सीमा सभी दालों के लिए तय करने को कहा है। वहीं उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्‍तर क्षेत्र ने अभी तक इस तरह की कोई सीमा तय नहीं की है।

सरकार बफर स्टॉक से 10,000 टन दलहन जारी करेगी

आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत व्यापारियों के लिए दालों के भंडारण की सीमा करीब एक साल से लागू है। मध्य प्रदेश हालांकि चने का प्रमुख उत्पादक है, लेकिन राज्य सरकार ने चना व्यापारियों पर इसकी खुदरा कीमतों में बढ़ोतरी के बावजूद भंडारण की कोई सीमा नहीं लगाई है। देश के कुल चना उत्पादन में मध्य प्रदेश का हिस्सा 30 प्रतिशत का है। राज्य ने सिर्फ तुअर, उड़द और मसूर दाल के व्यापारियों के लिए भंडारण की सीमा तय की है। वहीं तेलंगाना और आंध्र प्रदेश ने यह सीमा चना के लिए लगाई है, लेकिन अन्य दालों पर नहीं।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, फिलहाल उड़द का खुदरा दाम 185 रुपए किलो, तुअर 165 रुपए, मूंग 124 रुपए, मसूर दाल 105 रुपए व चना दाल 85 रुपए किलो बिक रही है। मांग-आपूर्ति की कड़ी स्थिति के बीच देशभर में दालों के खुदरा दाम एक बार फिर चढ़ने शुरू हो गए हैं। सरकार ने दलहन की उपलब्धता सुधारने के लिए अपने बफर स्टॉक से 50,000 टन दलहन जारी करने की प्रक्रिया शुरू की है।

Web Title: केंद्र ने राज्‍यों से सभी दालों के लिए भंडारण सीमा तय करने को कहा