Live TV
GO
Hindi News पैसा बिज़नेस भारत द्वारा आयात शुल्‍क बढ़ाने से...

भारत द्वारा आयात शुल्‍क बढ़ाने से पाकिस्‍तान को करारा झटका, सीमेंट व फल सहित 10 उत्‍पादों के आयात पर पड़ेगा बुरा असर

पाकिस्तान से भारत को मुख्य तौर पर 10 उत्पादों का निर्यात किया जाता है। इनमें ताजे फल, सीमेंट, पेट्रोलियम उत्पाद, खनिज और चमड़ा उत्पाद प्रमुख हैं।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 18 Feb 2019, 16:54:43 IST

नई दिल्ली। विशेषज्ञों का कहना है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान से होने वाले आयात पर भारत सरकार द्वारा शुल्क बढ़ाकर 200 प्रतिशत किए जाने से ताजे फलों, चमड़ा और सीमेंट सहित 10 प्रमुख उत्पादों के आयात को करारा झटका लगेगा। 

पाकिस्तान से भारत को मुख्य तौर पर 10 उत्पादों का निर्यात किया जाता है। इनमें ताजे फल, सीमेंट, पेट्रोलियम उत्पाद, खनिज और चमड़ा उत्पाद प्रमुख हैं। इसके अलावा प्रसंस्कृत खनिज, अकार्बनिक रसायन, कच्चा कपास, सूती कपड़े, शीशा और शीशे का सामान पाकिस्तान से आयात होने वाले सामानों में 95 प्रतिशत तक हिस्सा रखते हैं। 

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के प्रोफेसर विश्वजीत धर ने कहा कि पाकिस्तान से मंगाए जाने वाले सामान पर शुल्क में भारी वृद्धि के बाद हम उन्हें व्यापार के मामले में अलग-थलग कर देंगे। इस स्तर पर शुल्क बढ़ाने से पाकिस्तान का निर्यात एक तरह से पूरी तरह प्रभावित हो जाएगा।  

निर्यातकों के संगठन फियो ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त किए। फियो महानिदेशक अजय सहाय ने भी कहा कि इस फैसले से पाकिस्तान के निर्यात को करारा झटका लगेगा। पाकिस्तान से दो मुख्य सामान फल और सीमेंट हैं, जिनका आयात होता रहा है और इन पर 30 से 50 प्रतिशत तथा 7.5 प्रतिशत सीमा शुल्क लगता रहा है। देश के जिन आयातकों ने ऑर्डर दिए हैं उनके समक्ष यह मुद्दा आएगा और उन्हें 200 प्रतिशत तक आयात शुल्क देना पड़ सकता है। 

भारत सरकार ने कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कारवाई करते हुए पाकिस्तान से होने वाले आयात पर शुल्क को बढ़ाकर 200 प्रतिशत कर दिया है। इससे पहले पाकिस्तान को दिए गए सबसे तरजीही राष्ट्र के दर्जे को भी वापस ले लिया गया। इस आत्मघाती आतंकी हमले में देश के 40 जवान शहीद हो गए थे।  

वित्‍त वर्ष 2017-18 में पाकिस्तान से भारत को 3,482.3 करोड़ रुपए यानी 48.85 करोड़ डॉलर का निर्यात किया गया था। भारत कुछ पाकिस्तानी सामानों पर व्यापार प्रतिबंध लगा सकता है और पाकिस्तानी सामानों पर बंदरगाह संबंधी प्रतिबंध भी लगा सकता है। 

पाकिस्तान प्रमुख तौर पर भारत को ताजे फल, सीमेंट, बड़े पैमाने पर खनिज एवं अयस्क, तैयार चमड़ा, प्रसंस्कृत खाद्य, अकार्बनिक रसायन, कच्चा कपास, मसाले, ऊन, रबड़ उत्पाद, अल्कोहल पेय, चिकित्सा उपकरण, समुद्री सामान, प्लास्टिक, डाई और खेल का सामान निर्यात करता है। भारत ने पाकिस्तान को सबसे तरजीही देश का दर्जा 1996 में दिया था। हालांकि पाकिस्तान ने अब तक ऐसा नहीं किया। 
भारत पाकिस्तान के बीच कुल द्विपक्षीय व्यापार 2017-18 में मामूली बढ़कर 2.41 अरब डॉलर रहा, जो 2016-17 में 2.27 अरब डॉलर था। भारत ने 2017-18 में 48.85 करोड़ डॉलर का सामान पाकिस्तान से आयात किया जबकि 1.92 अरब डॉलर का सामान निर्यात किया गया।