Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. किंगफिशर मामला: अमेरिका और ब्रिटेन सहित...

किंगफिशर मामला: अमेरिका और ब्रिटेन सहित कई देशों को अदालती अनुरोध पत्र भेजेगी CBI

CBI किंगफिशर एयरलाइंस द्वारा धन के कथित हेरफेर के बारे में सूचनाएं जुटाने के लिए अमेरिका और ब्रिटेन सहित कई देशों को शीघ्र ही अदालती आग्रह पत्र भेजेगी।

Surbhi Jain
Surbhi Jain 13 Apr 2016, 15:38:53 IST

नई दिल्ली। सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टीगेशन (CBI) बंद एयरलाइन कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस (केएफए) द्वारा आईडीबीआई बैंक से मिले धन के कथित हेरफेर के बारे में सूचनाएं जुटाने के लिए अमेरिका और ब्रिटेन सहित कम से कम पांच देशों को शीघ्र ही अदालती आग्रह पत्र भेजेगी। सूत्रों ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि किंगफिशर एयरलाइंस के लेन देने के बारे में वित्तीय आसूचना इकाई से मिली पुख्ता सूचना के आधार पर सीबीआई ने यह कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि एजेंसी ने अब तक ब्रिटेन, अमेरिका, हांगकांग, फ्रांस और स्विटजरलैंड को भेजे जाने वाले अदालती आग्रह पत्र तैयार करवा लिए हैं।

सूत्रों के अनुसार जांच के आगे बढ़ने के साथ ही एजेंसी कुछ और देशों से संपर्क कर किंगफिशर एयरलाइंस द्वारा किए गए लेन देन व रेमिटेंस के बारे में जानकारी मांगेगी। कंपनी ने आईडीबीआई बैंक से 950 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है और सीबीआई को संदेह है कि इसके ज्यादातर हिस्से का इस्तेमाल विदेशी रेमिटेंस के लिए किया गया। जांच अधिकारी वर्षा वर्मा ने इस मामले में अपनी शुरूआती जांच पूरी करने के बाद 28 जुलाई 2015 को सिफारिश की थी, चूंकि उक्त रेमिटेंस देश से बाहर गया है तो आगे की जांच केवल विदेशी जांच के लिए अदालती आग्रह पत्र भेजकर ही की जा सकती है।

विजय माल्या ने प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश होने के लिए मई तक का समय मांगा है। माल्या के वकील ने बीते शनिवार को कहा कि वह धन शोधन मामले के सिलसिले में पेश नहीं हो सकते और उन्हें पेश होने के लिए मोहलत दी जाए।

Web Title: माल्या पर CBI कसेगी शिकंजा, कई देशों को भेजेगी अदालती अनुरोध पत्र