Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. इसरो की लिथियम आयन बैटरी तकनीक...

इसरो की लिथियम आयन बैटरी तकनीक में 130 से ज्यादा कंपनियों की रुचि, स्‍पेस कार्यक्रम में किया था सफल इस्‍तेमाल

घरेलू कंपनियों को लिथियम आयन बैटरी की तकनीक उद्योग जगत को हस्तांतरित करने की इसरो की पहल के तहत यहां विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) ने संभावित आवेदकों के लिए एक आवेदन-पूर्व सम्मेलन का आयोजन किया है।

India TV Paisa Desk
Edited by: India TV Paisa Desk 16 Jul 2018, 18:06:40 IST

तिरुवनंतपुरम। घरेलू कंपनियों को लिथियम आयन बैटरी की तकनीक उद्योग जगत को हस्तांतरित करने की इसरो की पहल के तहत यहां विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (वीएसएससी) ने संभावित आवेदकों के लिए एक आवेदन-पूर्व सम्मेलन का आयोजन किया है। वीएसएससी द्वारा विकसित इस तकनीक में 130 कंपनियों ने अपनी रुचि दिखायी है। वीएसएससी ने एक बयान में बताया कि इसरो ने इस संबंध में योग्यता आवेदन जून में मंगाए थे जिसमें 130 से अधिक कंपनियों ने अपनी रुचि दिखाई है।

मौजूदा सम्मेलन में इन कंपनियों के करीब 250 से भी अधिक शीर्ष तकनीकी अधिकारी शामिल होने जा रहे हैं। इस सम्मेलन में तकनीकी हस्तांतरण की विभिन्न प्रक्रियाओं पर विमर्श होगा साथ ही कंपनियों को उनकी प्रस्तावित योजनाएं लाने के लिए मदद की जाएगी।

वीएसएससी के निदेशक एस सोमनाथ ने कहा कि इसरो की स्थापित नीति है कि समाज के बड़े फायदे में काम आने वाली उसके द्वारा विकसित तकनीकों को घरेलू उद्योग को हस्तांतरित किया जाए। वीएसएससी ने लिथियम-आयन सेल का अंतरिक्ष कार्यक्रम में सफल उपयोग किया है।

Web Title: इसरो की लिथियम आयन बैटरी तकनीक में 130 से ज्यादा कंपनियों की रुचि, स्‍पेस कार्यक्रम में किया था सफल इस्‍तेमाल