Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. ऑटो
  4. मारुति सुजुकी को सता रहा है...

मारुति सुजुकी को सता रहा है डर, इसलिए चालू वित्त वर्ष में बिक्री में वृद्धि के अनुमान को घटाकर किया 8%

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया का अनुमान है कि अब चालू वित्त वर्ष में उसकी बिक्री वृद्धि दोहरे अंक में रहने की बजाये मात्र आठ प्रतिशत रहेगी।

India TV Paisa Desk
Edited by: India TV Paisa Desk 19 Dec 2018, 17:09:50 IST

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया का अनुमान है कि अब चालू वित्त वर्ष में उसकी बिक्री वृद्धि दोहरे अंक में रहने की बजाये मात्र आठ प्रतिशत रहेगी। इसलिए कंपनी ने बुधवार को अपना बिक्री अनुमान घटा दिया। 

कंपनी के चेयरमैन आर. सी. भार्गव ने यहां पत्रकारों से बातचीत में यह बात कही। कंपनी का कहना है कि ईंधन की बढ़ती कीमतों, बीमा लागत में वृद्धि और ऊंची ब्याज दरों के चलते चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में मांग घटी है। इसके अलावा नए मॉडल की पेशकश नहीं होने से भी बिक्री घटने का अनुमान है। भार्गव ने कहा कि चालू वित्‍त वर्ष के लिए हम अपनी वृद्धि का अनुमान 8 प्रतिशत कर रहे हैं। इससे पहले कंपनी ने चालू वित्‍त वर्ष के लिए बिक्री में वृद्धि अनुमान को दोहरे अंकों में रहने की उम्‍मीद जताई थी।

भार्गव ने कहा कि अगले साल जनवरी-मार्च के दौरान हम एक नया मॉडल लॉन्‍च करेंगे जो हमारी बिक्री को बढ़ाने में मदद करेगा। उन्‍होंने कहा कि हाल ही में लॉन्‍च की गई अर्टिगा भी अपना योगदान देगी क्‍योंकि इसे बाजार में अच्‍छी प्रतिक्रिया मिली है। कंपनी के मुताबिक नई अर्टिगा की 23,000 यूनिट बुक हो चुकी हैं और इस पर 8 हफ्ते का वेटिंग पीरियड चल रहा है।

कंपनी ने कहा कि इतिहास गवाह रहा है कि चुनावी साल से पहले बिक्री घटती है, जबकि चुनावी साल में बिक्री बढ़ती है। इसलिए कंपनी को अगले वित्त वर्ष में बिक्री बढ़ने की उम्मीद है। भार्गव ने कहा कि भारत स्टेज-6 की दिशा में आगे बढ़ने के लिए कंपनी अपने अधिकतर बीएस-4 मॉडलों का दिसंबर 2019 तक उत्पादन बंद कर देगी।  सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ते प्रदूषण स्‍तर को देखते हुए सभी बीएस-4 वाहनों को 31 मार्च, 2020 तक बंद करने का आदेश दिया है। 1 अप्रैल, 2020 से देश में केवल बीएस-6 वाहन ही बेचे जाएंगे।

Web Title: Maruti cuts sales growth forecast for current fiscal to 8% | मारुति सुजुकी को सता रहा है डर, इसलिए चालू वित्त वर्ष में बिक्री में वृद्धि के अनुमान को घटाकर किया 8%