Live TV
GO
Hindi News पैसा ऑटो कार व मोटरसाइकिल का बीमा हो...

कार व मोटरसाइकिल का बीमा हो सकता है महंगा, इरडा ने थर्ड पार्टी प्रीमियम बढ़ाने का किया प्रस्ताव

कार-बाइक खरीदारों के लिए बुरी खबर है। बीमा रेगुलेटर इरडा (IRDAI) ने मोटर बीमा महंगा करने का प्रस्ताव किया है। रेगुलेटर ने कहा है कि टू व्हीलर, ट्रक और कार का थर्ड पार्टी प्रीमियम बढ़ा दिया जाए।

India TV Paisa Desk
India TV Paisa Desk 21 May 2019, 14:51:21 IST

नई दिल्ली। कार-बाइक खरीदारों के लिए बुरी खबर है। बीमा क्षेत्र के नियामक भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने चालू वित्त वर्ष के लिए कारों और दो पहिया वाहनों के थर्ड पार्टी प्रीमियम में व्यापक वृद्धि किए जाने का प्रस्ताव किया है। रेगुलेटर ने कहा है कि टू व्‍हीलर, ट्रक और कार का थर्ड पार्टी प्रीमियम बढ़ा दिया जाए। हालांकि तीन और पांच साल का बीमा लेने वाले वाहन मालिकों पर इसका असर नहीं पड़ेगा। वहीं इलेक्ट्रिक टू व्‍हीलर और कारों के लिए प्रीमियम में 15 प्रतिशत का डिस्‍काउंट दिया जाएगा।

कार और बाइक पर इतना बढ़ सकता है प्रीमियम

भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने वर्ष 2019-20 के लिए थर्ड पार्टी मोटर बीमा प्रीमियम की दर बढ़ाने का प्रस्ताव किया है। इसके मुताबिक 1,000 सीसी से कम क्षमता वाली कारों का तीसरा पक्ष बीमा प्रीमियम मौजूदा 1,850 रुपए से बढ़ाकर 2,120 रुपए कर दिया जाना चाहिए। इसी प्रकार 1,000 सीसी और 1,500 सीसी के बीच वाली कारों के प्रीमियम को मौजूदा 2,863 रुपए से बढ़ाकर 3,300 रुपए करने का प्रस्ताव किया गया है।

हालांकि 1,500 सीसी के इंजन से अधिक क्षमता वाली लग्‍जरी कारों के मामले में इसमें किसी तरह के बदलाव का प्रस्ताव नहीं किया गया है और यह मौजूदा 7,890 रुपए पर ही रखा जाएगा। नए मसौदे के मुताबिक 75 सीसी से कम क्षमता वाले दोपहिया के लिए थर्ड पार्टी प्रीमियम 427 रुपए से बढ़ाकर 482 रुपए करने का प्रस्ताव है। इसके साथ ही 75 सीसी से लेकर 350 सीसी तक के लिए भी वृद्धि का प्रस्ताव किया गया है लेकिन 350 सीसी से अधिक की सुपरबाइक के मामले में किसी तरह के बदलाव का प्रस्ताव नहीं किया गया है। इसके साथ ही नई कारों के मामले में एक बारगी तीन साल की प्रीमियम दर और नए दोपहिया के लिए पांच साल की प्रीमियम दर का प्रस्ताव किया गया है। 

सामान्य तौर पर थर्ड पार्टी प्रीमियम दर एक अप्रैल से संशोधित कर दी जाती है लेकिन इस बार कंपनी ने इसे अगला आदेश जारी होने तक पुरानी दरों में ही जारी रखने का फैसला किया था। अब नियामक ने तीसरे पक्ष के प्रीमियम के मामले में नई दरों का प्रस्ताव किया है। नियामक अब चालू वित्त वर्ष के दौरान तीसरे पक्ष के वास्ते नई प्रीमियम दरों के मसौदे के साथ आगे आया है। 

जून से लागू हो सकती है बढ़ोतरी

इरडा ने कहा कि वह इस प्रस्‍ताव पर सभी पक्षों की राय लेगा और 29 मई के बाद इसे लागू करने का फैसला हो सकता है।

विंटेज कारों के लिए अलग योजना

इरडा ने अपने प्रस्‍ताव में कहा है कि विंटेज कारों के लिए बीमा प्रीमियम में 50 प्रतिशत तक की छूट दी जाएगी। बीमा नियामक ने निजी इस्तेमाल की इलेक्ट्रिक कारों और इलेक्ट्रिक दोपहिया कारों के मामले में तीसरा पक्ष मोटर बीमा प्रीमियम में 15 प्रतिशत रियायत का प्रस्ताव किया है। टैक्सी, बसों और ट्रक के मामले में भी दरें बढ़ाने का प्रस्ताव है। ट्रैक्टर मामले में भी प्रीमियम बढ़ सकता है। 

इसलिए बढ़ाया जा रहा है प्रीमियम

वाहनों के बीमा मामलों के जानकारों के मुताबिक, बीमा प्रीमियम बढ़ाने के पीछे मकसद यह होता है कि कंपनियों द्वारा बीते साल में कितना मुआवजा दिया गया है और आगे कितना देना पड़ सकता है। इस आधार पर प्रीमियम बढ़ाया जाता है। इरडा (IRDAI) हर साल प्रीमियम रिवाइज करता है लेकिन इस साल चुनाव के कारण इसमें देर हुई। अब चुनाव बाद IRDAI ने कार्रवाई शुरू की है, जिसका असर आने वाले दिनों में दिख सकता है।

More From Auto