Live TV
GO
Hindi News पैसा ऑटो हुंडई 23 अक्‍टूबर को लॉन्‍च करेगी...

हुंडई 23 अक्‍टूबर को लॉन्‍च करेगी अपनी लोकप्रिय छोटी कार सेंट्रो, पहले 50 हजार ग्राहकों के लिए खास ऑफर

दक्षिण कोरिया की वाहन कंपनी हुंडई 2000 के दशक की अपनी लोकप्रिय कार सेंट्रो को एक बार फिर बाजार में उतारने जा रहा है।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 09 Oct 2018, 19:23:19 IST

चेन्नई। दक्षिण कोरिया की वाहन कंपनी हुंडई 2000 के दशक की अपनी लोकप्रिय कार सेंट्रो को एक बार फिर बाजार में उतारने जा रहा है। कंपनी की यह कार इसी महीने भारतीय बाजार में री-एंट्री लेगी। आपको बता दें कि दिसंबर, 2014 में कंपनी ने अपने पुराने सैंट्रो मॉडल को बंद कर दिया था। इसके बाद भारतीय बाजार में मौजूद कंपनी की छोटी कारों में ईऑन, आई10, ग्रैंड आई 10 रह गई थीं। अब इस सेगमेंट में सेंट्रो के साथ कंपनी अपनी पकड़ और मजबूत बनाएगी। 

बता दें कि हुंडई ने अपनी नई सैंट्रो में 10 करोड़ डॉलर से अधिक का निवेश किया है। पिछले तीन साल के दौरान इसे कोड नाम एएच2 के तहत विकसित किया गया है। नई कार में चार सिलेंडर वाला 1.1 लीटर का पेट्रोल इंजन लगा है। यह आटोमैटेड मैनुअल ट्रांसमिशन (एएमटी) तथा फैक्टरी फिटेड सीएनजी ईंधन विकल्प में उपलब्ध होगी। एचएमआईएल के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वाई के कू ने कहा कि आनलाइन सर्वे में हमें काफी शानदार प्रतिक्रिया मिली है जिसके बाद हमने ‘नई परिवारिक कार’ को सैंट्रो का नाम देने का फैसला किया है। 

उन्होंने कहा कि एएच2 में ‘आधुनिक टॉल बॉय कार’ के रूप में सैंट्रो सैंट्रो के सारे मूल्य समाए हैं। कंपनी अपनी नई सैंट्रो की आनलाइन प्री-बुकिंग 10-22 अक्टूबर से शुरू करेगी। पहले 50,000 ग्राहकों से 11,100 रुपये की बुकिंग राशि ली जाएगी। कू ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम नई सैंट्रो का नई दिल्ली में 23 अक्टूबर को वैश्विक प्रीमियर करेंगे।’’ नई कार की बिक्री के बारे में पूछे जाने पर कू ने कहा कि हम घरेलू बाजार में हर महीने 8,000 से 10,000 इकाइयों की बिक्री कर रहे हैं। 

नई सैंट्रो मध्यम कॉम्पैक्ट खंड में मारुति सुजुकी की वैगन आर, सेलेरियो और टाटा मोटर्स की टियागो से प्रतिस्पर्धा करेगी। उन्होंने कहा कि नई सैंट्रो के साथ हम इस सेगमेट में 25 से 30 प्रतिशत की वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि नई सैंट्रो के जरिये हम पहली बार के खरीदारों को लक्ष्य कर रहे हैं विशेषरूप से दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों में। इसके अलावा महानगरों से इसकी खरीद में अतिरिक्त योगदान मिलेगा। 

More From Auto